Today's Top News

img

रामगढ़, 31 मार्च (हि.स.) l रामगढ़ जिला प्रशासन लॉक डाउन के दौरान माइग्रेंट्स वर्कर्स रोकने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। डीसी संदीप सिंह ने शहर के पटेल छात्रावास को शेल्टर हाउस में तब्दील कर दिया था। सोमवार पहली ही रात लगभग डेढ़ सौ लोग इस शेल्टर हाउस में रहने आए। जिला वासियों ने कई लोगों को पटेल छात्रावास तक पहुंचने की सलाह दी, तो कुछ लोगों ने ट्रक से भरकर ही इन लोगों को पटेल छात्रावास पहुंचा दिया। शेल्टर हाउस में लोगों के रहने खाने की सेवा देने में लगे आनंद अग्रवाल, दामोदर महतो, झलक देव महतो, बालकृष्ण जालान जैसे लोगों ने उन सभी शरणार्थियों को सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताया। साथ ही उसका पालन करते हुए उन लोगों को शेल्टर हाउस में ठहराया गया। वहां उन लोगों को यह बताया गया कि अगले 15 दिनों तक उनके नाश्ते, दोपहर के खाने और रात के खाने की व्यवस्था यहीं पर है। किसी को भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। लॉक डाउन को सफल बनाने में लगे समाजसेवियों ने लोगों से अपील की है कि वह माइग्रेट्स वर्कर्स को पटेल छात्रावास का पता बताएं। ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए चल रही जंग को जीत सकें। मंगलवार की सुबह डीसी संदीप सिंह ने बताया कि जिले में दूसरे राज्य व जिले के लोग लॉक डाउन के दौरान फंस गए हैं। कुछ लोग पैदल ही निकल पड़े हैं। उन सभी को फिलहाल सेल्टर हाउस में रखा जाएगा। उन्हें बेवजह परेशान होने की जरूरत नहीं है। जितने लोग सेल्टर हाउस में ठहरे हैं, उनकी तस्वीरें वहां हुई व्यवस्था के साथ सोशल मीडिया पर वायरल की जा रही हैं, ताकि लोगों को वहां तक पहुंचने में आसानी हो।

Adv

You Might Also Like