ADV2
adv Ftr

एचसीएल टेक्नो और एचआरएस के बीच समझौता

मुंबई, 06 फरवरी (हि.स.)। एचसीएल टेक्नोलॉजीज और हैरिस गियोस्पैटियल के साथ एक समझौता करार हुआ है। इस करार के तहत मानवरहित एयरक्रॉफ्ट सिस्टम (यूएएस), मानवयुक्त एयरक्रॉफ्ट तथा स्पेस-बोर्न डेटा सोर्सेस के लिए रिमोट सेंसिंग डेटा एनालिटिक्स सिस्टम को तैयार किया जाएगा। 
आईटी क्षेत्र की कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजीज लिमिटेड ने बाजार नियामक बीएसई और एनएसई को सूचित किया है कि उसने हैरिस कॉर्पोरेशन (एचआरएस) की सहायक कंपनी हैरिस गियोस्पैटियल सोल्युशन्स इंक के साथ अपने यूटिलिटीज ग्राहकों के लिए एआई-संचालित, रिमोट सेंसिंग डेटा एनालिटिक्स सिस्टम को तैयार करने के लिए समझौता करार किया है। यह सिस्टम रिमोट सेंसिंग सिस्टम के उपयोग के जरिए सूचनाओं को अधिक सक्रिय, बेहतर तरीके से नियंत्रण करने में सक्षम साबित होगा। इसके अलावा मानवरहित एयरक्रॉफ्ट सिस्टम (यूएएस), मानवयुक्त एयरक्रॉफ्ट तथा स्पेस-बोर्न डेटा सोर्सेस को भी इस करार के तहत शामिल किया गया है। 
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बढ़ते मार्केट को देखते हुए दोनों कंपनियों के बीच यह करार हुआ है। एआई प्रौद्योगिकियों के उपयोग को लेकर दुनियाभर की दिग्गज कंपनियां आगे बढ़ रही हैं। सेवाओं की मांग में वृद्धि से तकनीकी सेवाओं के साथ ही बेहतर नेटवर्क के लिए यह करार महत्वपूर्ण है। अनुसंधान फर्म मिलियन इनसाइट्स के अनुसार, फिलहाल वैश्विक डिजिटल उपयोगिता बाजार का टर्नओवर वर्ष 2025 तक कुल 299.1 बिलियन डॉलर का हो जाएगा। हैरिस कॉर्पोरेशन फिलहाल 100 देशों को सरकारी और कॉमर्शियल कंपनियों को संचार प्रणाली, इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम और अंतरिक्ष एवं खुफिया सिस्टम तकनीकी सेवाएं उपलब्ध करा रही है| इसका टर्नओवर सालाना 6 बिलियन डॉलर है। एचसीएल भी देश की दिग्गज आईटी सोल्यूशंस उपलब्ध करानेवाली कंपनी है| 31 दिसंबर 2018 को समाप्त तिमाही के दौरान कंपनी का राजस्व 8.4 बिलियन डॉलर रहा था। 

Todays Headlines