img

अयाेध्या, 28 सितम्बर (हि. स.)। रामकोट स्थित प्रतिष्ठित पीठ श्रीरामाश्रम में महंत जयराम दास काे सोमवार को संत महंतों ने मंदिर का महंत चुनाव और कंठी चादर दिया। मंदिर के पूर्व महंत प्रभु दास शास्त्री के साकेत वास होने के बाद साेमवार काे विशिष्ट संत-महंताें ने उन्हें साधुशाही परंपरानुसार कंठी, चद्दर व तिलक देकर महन्ती की मान्यता प्रदान किया। 


विगत 16 सितंबर को मंदिर के संस्थापक महंत प्रभूदास शास्त्री महाराज का साकेतवास हाे गया था। तब से आश्रम की गद्दी खाली चल रही थी, जिस पर जयराम दास की ताजपाेशी की गई। इस अवसर पर नवनियुक्त महंत जयराम ने  उन्हें अपने गुरूदेव की कमी हमेशा अखरती रहेगी, जिसकी भविष्य में भरपाई करना मुश्किल है। महंत जैसे जिस पद की उन्हें जिम्मेदारी साैंपी गयी है। उसका वह बखूबी के साथ निर्वहन करते रहेंगे। उनके द्वारा ऐसा काेई कार्य नही किया जायेगा, जिससे इस पद की छवि धूमिल हाे। अंत में नये महंत ने आए हुए संत-धर्माचार्याें का स्वागत-सत्कार किया। 


इस माैके पर दशरथ महल के विंदुगद्याचार्य महंत देवेंद्र प्रसादाचार्य, मणिरामदास छावनी उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास, महंत सुरेश दास, जगद्गुरू वासुदेवाचार्य आदि माैजूद रहे।

Adv

You Might Also Like