img
कठुआ, 21 नवंबर (हि.स.)। शनिवार को महापर्व छठ का समापन हुआ। उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही चार दिन लंबे इस त्योहार का समापन हो गया। कठुआ के वार्ड नंबर 21 स्थित नहर पर बाहरी राज्यों के लोगों में खासतौर पर इस त्योहार की रौनक देखी गई। नहर पर सुबह पांच बजे से ही उगते सूर्य को अर्घ्य देने के लिए श्रद्दालुओं की भीड़ उमड़ने लगी थी। व्रती महिला विंदा देवी, इंदू देवी, ममता देवी, सीमा देवी, निशु देवी आदि ने बताया कि उगते सूर्य को अर्घ्य देकर शनिवार को छठ पूजा संपन्न हो गई है। छठ पूजा मनाने वाले व्रतियों ने 36 घंटे का निर्जला व्रत रखकर कड़ी साधना करके सूर्य से अपनी कृपा बनाए रखने की प्रार्थना की। उन्होंने बताया कि महिलाओं ने छठी मइया और सूर्य भगवान से अपनी संतानों, पति व परिवार की खुशियां मांगीं। इसके बाद उन्होंने अपने निर्जल व्रत का पारायण किया। वुधवार से ही छठ करने वाली महिलाएं व्रत पर थी। आज उगते सूर्य को अर्घ्य डालने के बाद महिलाएं अपना व्रत खोला। बुधवार को खरना की पूजा हुई थी और खरना के दिन से ही छठ करने वाली महिलाएं उपवास रखती है। वार्ड 21 नहर पर मेला लगने जैसा माहौल नजर आया। इस मौके पर छठ पूजा करने वाले सभी श्रद्धालुओं ने मुंह पर मास्क और सामाजिक दूरी नियम का पूरा पालन किया।
Adv

You Might Also Like