Today's Top News

img
बेगूसराय, 02 मार्च (हि.स.)। कोरोना संक्रमण के जांच की चल रही प्रक्रिया के बीच चार मार्च को होने वाले सेना की बहाली में अभ्यर्थियों को कोरोना वायरस जांच प्रमाण पत्र मांगे जाने से अस्पताल में तीन दिन से अफरातफरी की स्थिति मची हुई है। यहां अब तक 16 सौ से अधिक युवाओं ने जांच के लिए पंजीकरण कराया है। मंगलवार को सुबह से ही जांच कराने के लिए अचानक भारी जुट जाने से अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है।युवाओं की उमड़ी भीड़ के कारण को लेकर अस्पताल में प्रतिनियुक्त सुरक्षाकर्मियों के अलावा नगर थाना के थानाध्यक्ष समेत सभी कर्मियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। सभी पुलिसकर्मी युवाओं को लाइन में लगाते रहे, लेकिन एक मात्र पंजीयन काउंटर होने के कारण भीड़ काफी उग्र हो गई। इस दौरान प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम प्रोटोकॉल का पालन कराने में भी पूरी तरह से नाकाम रही। पंजीकरण में देर लगने के कारण हो-हल्ला करने से स्थिति काफी विषम हो गई तथा कई बार लाठी चलाने की भी नौबत आ गई। लेकिन भीड़ को किसी तरह से काबू में कर पंजीकरण कराया जा रहा है। जांच कराने आए रौशन कुमार, मनीष कुमार, विवेक कुमार समेत अन्य का कहना है कि चार मार्च को सेना बहाली होना है। जिसमें 48 घंटे पहले का कोरोमा जांच प्रमाण पत्र मांगा गया है। लेकिन यहां सदर अस्पताल में कोई समुचित व्यवस्था नहीं है। रजिस्ट्रेशन के लिए एकमात्र काउंटर है। अस्पताल प्रशासन से गुहार के बावजूद ना तो अतिरिक्त काउंटर की व्यवस्था की गई है और ना ही अतिरिक्त जांच टीम बैठाई गई है। जिसके कारण हम लोग पिछले तीन दिनों से परेशान हैं, हमारी परेशानी सुनने को कोई तैयार नहीं है।
Adv

You Might Also Like