Adv
adv Ftr

केरल के बाढ़ पीड़ितों की दुर्दशा पर संवेदाहीन टिप्पणी करना भारतीय को महंगा पड़ा

 

दुबई, 20 अगसत (हि.स.)। केरल में बाढ़ पीड़ितों की दुर्दशा पर संवेदनाहीन टिप्पणी करने के लिए खाड़ी देश की एक कंपनी ने अपने भारतीय कर्मचारी को बर्खास्त कर दिया है। यह जानकारी सोमवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

समाचार पत्र खलीज टाइम्स के अनुसार, लूला ग्रुप इंटरनेशनल की ओमान शाखा में रोकड़िया के रूप में कार्यरत राहुल चेरू पालयट्टू को केरल में बाढ़ पीड़ितों की स्वच्छता जरूरतों का मजाक उड़ाने के लिए नौकरी से निकाल दिया गया है। उसने इस आशय का एक पोस्ट सोशल मीडिया फेसबुक पर जारी की थी।

विदित हो कि लूला ग्रुप इंटरनेशनल के मालिक अरबपति एमए युसुफ अली हैं और वह भी केरल के निवासी हैं। उन्होंने केरल में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए 93 लाख दिरहाम सहायता राशि के रूप में राज्य सरकार को दिया है। इसके अलावा केरल के बाढ़ पीड़ितों को सहायता पहुंचाने के लिए संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने भी एक समिति बनाई है।

हालांकि नौकरी से निकाले जाने के बाद उक्त व्यक्ति ने फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिए माफी मांगी है। केरल इस सदी में सबसे भयानक बाढ़ त्रासदी से गुजर रहा है। अब तक बाढ़ से चार सौ लोगों की मौत हो चुकी है और करीब बीस हजार करोड़ मूल्य की संपत्ति नष्ट हो चुकी है।