img

देहरादून, 09 अगस्त (हि.स.)। भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत से कहा है कि यदि वे उत्तराखंड की जनता के प्रति किए गए अपने व अपनी सरकार के ग़लत कार्यों का ईमानदारी से पश्चाताप करना चाहते हैं तो वे अपनी सरकार के समय के सारे घोटालों का जनता के सामने ख़ुलासा करें। इसके साथ ही 600 करोड़ रुपये के चावल घोटाले सहित विभिन्न घोटालों में जो लोग शामिल थे उनके नामों को सार्वजनिक कर दें।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. देवेन्द्र भसीन ने यहां कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत आजकल बार बार अपनी सरकार के समय के कामों को लेकर पश्चाताप की बात कर रहे हैं। यदि वे सही मायने में पाश्चाताप करना चाहते हैं तो उन्हें चाहिए कि वे उनके सत्ता में रहते हुए कांग्रेस सरकार ने जो घोटाले किए, उनका सारा ख़ुलासा जनता के सामने कर दें और उनमें जो लोग भी शामिल थे, उनके नामों को भी सार्वजनिक कर जनता से माफ़ी मांगें। ऐसा करने से यह साफ़ होगा कि हरीश रावत सही मायने में पश्चाताप करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अभी 600 करोड़ रु चावल घोटाले का मामला फिर चर्चाओं में है। रावत से उम्मीद की जाती है कि ग़रीब के राशन के साथ घोटाला करने वाले कौन लोग थे , क्या कोई मंत्री भी शामिल थे और कौन कौन अधिकारी उसमें भागीदार थे, इसे जनता को बताएं।   

डॉ. भसीन ने कहा कि यदि रावत यह कहते हैं कि सरकार जांच करे तो वह काम तो हो ही रहा है लेकिन पश्चाताप तो अपनी गलती मानने से होता है। हरीश रावत की ग़ैरसैंण यात्रा पर उन्होंने कहा कि जब वे खुद सत्ता में थे तो कुछ नहीं किया। भवन गेस्ट हाउस बना दिया गया। प्रदेश में तीन तीन स्थानों पर राजधानी की चर्चा छेड़ कर रखी गई। अब जब मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित कर चुनाव में भाजपा द्वारा किया गया वायदा पूरा कर दिया तो वे ग़ैरसैंण पर राजनीति कर मीडिया में जगह प्राप्त करना चाहते हैं लेकिन जनता सब समझती है

Adv

You Might Also Like