Today's Top News

img

शिमला, 25 जनवरी (हि.स.)। हिमाचल के पूर्ण राज्यत्व दिवस के उपलक्ष्य में मंगलवार को शिमला के ऐतिहासिक रिज मैदान पर आयोजित स्वर्ण जयंती समारोह को सम्बोधित करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हिमाचल की पहचान यहां के लोगों की सादगी और ईमानदारी है। यह पहाड़ी राज्य विकास की नई बुलंदियां छू रहा है और विकास यात्रा यूं ही जारी रहेगी। 


नड्डा ने कहा कि जब मैं 11 साल का था तो हिमाचल को पूर्ण राजत्व का दर्जा मिला था। वह चित्र आज भी मेरे आंखों में है। अब आज स्वर्ण जयंती के अवसर पर हम सौभाग्यशाली हैं कि हम इसके गवाह बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक समय हमें शिक्षा के लिए प्रदेश को छोड़ कर जाना पड़ता था। अब यह शिक्षा पचास साल हमें अपने प्रदेश में मिलती है। हम कभी भी हिमाचल के पहले मुख्यमंत्री डर यशवंत सिंह परमार को नहीं भूल सकते जो अपने कंधे पर पिठू लगाकर चलते थे। यहां तक की त्याग पत्र देने के बाद वे एक साधारण बस में बैठ कर घर गए। 


भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि शान्ता, वीरभद्र और धूमल के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। अटल का आर्थिक पैकेज को नहीं भुला जा सकता। उन्होंने कहा कि जब मैं 1993 मैं पहली बार विधायक बना तो हमसे पूछते थे कि इस साल आपकी कौन सी तीन किलोमीटर सड़क बनानी है। उसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री बने और सड़कों की समस्या ही समाप्त हो गई। स्वास्थ्य के क्षेत्र में इतने मेडिकल कालेज सुर एक एम्स हिमाचल में खुला है। इसकी हमने कभी कल्पना नहीं की होगी।


नड्डा ने कहा कि उजाले का मजा लेना है तो अंधकार को याद रखो। पर्यटन और बागवानी के क्षेत्र में हिमाचल में आपार सम्भावना है। कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद हिमाचल स्पेशल कैटेगरी स्टेट बना है। मोदी ने अटल टनल का काम फिर से शुरू करवाया। पहले काम रुक गया था। उन्होंने कहा कि उम्मीद जताई कि मुख्यमंत्री जयराम के नेतृत्व में हिमाचल एक लंबी छलांग लगाएगा। केंद्र की योजनाओं के साथ हिमाचल ने अपनी भी योजनाएं शुरू की हैं। 


उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना के जरिये महिलाओं का सशक्तिकरण है। सौभाग्य योजना में नाम आने के दस दिन में बिजली मिलती है। अब राज्य के बाहर इलाज करवाने पर पैसा सीधा आपके खाते में पहुंचता है। सभी लोग मेहनत कर रहे हैं और हिमाचल आगे बढ़ेगा। हिमाचल के सादापन हमारी सादगी और ईमानदारी है। इसे सम्भाल कर रखना होगा। मैं यहां राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाते नहीं एक हिमाचली के नाते आया हूं। 


Adv

You Might Also Like