Adv
adv Ftr

तीसरी सूची में भी नाम न होने पर रो पड़े सरताज सिंह

 

होशंगाबाद, 08 नवंबर (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी की तीसरी सूची जारी होने के बाद भी पार्टी नेताओं की नाराजगी कम होती नजर नहीं आ रही है। सिवनी मालवा सीट से दावेदार और पार्टी के वरिष्ठ नेता सरताजसिंह का गुस्सा भी गुरुवार को आंसुओं की शक्ल में बह निकला। तीसरी सूची में भी नाम न आने पर सरताजसिंह अपने समर्थकों के बीच रो पड़े। 
भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को जारी की गई अपनी तीसरी सूची में कृष्णा गौर को गोविंदपुरा से टिकट देकर एक बुजुर्ग नेता बाबूलाल गौर को तो साध लिया, लेकिन दूसरे असंतुष्ट बुजुर्ग नेता सरताजसिंह की समस्या का कोई हल नहीं निकल पाया है। बुजुर्ग नेता गुरुवार को स्थानीय पार्टी पदाधिकारियों और समर्थकों से मिलने सिवनी मालवा पहुंचे थे। इसी बीच पार्टी की तीसरी सूची जारी हो गई। इसमें भी नाम न आने पर सरताजसिंह दुखी हो गए। वे अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए रो पड़े। उन्होंने कहा कि मैं घर में बैठकर घुट-घुटकर मरने वालों में से नहीं हूं। लडूंगा तो मैदान में, मरूंगा तो मैदान-ए-जंग में। सरताजसिंह की नाराजगी भाजपा को भारी पड़ सकती है। सूत्रों के अनुसार उन्होंने कांग्रेस से होशंगाबाद सीट से लड़ने के संकेत दिए हैं। सूत्रों के अनुसार उन्होंने नामांकन फॉर्म खरीद लिया है और चुनाव के लिए एसबीआई की मीनाक्षी चौक शाखा में खाता भी खुलवा लिया है। सूत्रों का कहना है कि यदि भाजपा सरताजसिंह को मना नहीं पाती है, तो इस सीट से लड़ रहे पार्टी के उम्मीदवार डॉ. सीतासरन शर्मा के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है। हालांकि अभी वरिष्ठ नेता के कांग्रेस में जाने के बारे में स्थिति स्पष्ट नहीं हुई है, लेकिन प्रदेश कांग्रेस ने शाम तक उनकी टिकट फाइनल किए जाने के संकेत दिए हैं। प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर ने कहा है कि सरताजसिंह से उनकी चर्चा चल रही है।