ADV2
adv Ftr

दीपावली की रात सात घंटे में कोलकाता में 93 गिरफ्तार

 

कोलकाता, 08 नवम्बर (हि.स.)। दीपावली की शाम 4:00 बजे से लेकर सात घंटे के अंदर पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में पुलिस ने पटाखे फोड़ने अथवा लाउडस्पीकर आदि बजाने वाले 93 लोगों को गिरफ्तार किया है। गुरुवार को यह जानकारी कोलकाता पुलिस के उच्च पदस्थ अधिकारी ने दी। उन्होंने बताया कि बुधवार यानी दीपावली के दिन शाम 4:00 बजे से रात 11:00 बजे तक पुलिस के पास 52 शिकायतें दर्ज कराई गईं। इसमें से 50 शिकायतें पटाखे फोड़ने की थी जबकि दो शिकायतें तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाने की। इन सभी पर तत्काल कार्रवाई करते हुए 93 लोगों को कोलकाता के विभिन्न क्षेत्रों से गिरफ्तार किया गया है।
हालांकि उन्होंने यह भी दावा किया कि यह आंकड़ा पिछले साल की तुलना में काफी कम है। उक्त अधिकारी ने बताया कि 2017 में दीपावली के दिन शाम 4:00 बजे से रात 11:00 बजे तक कुल 78 शिकायतें मिली थीं और 114 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इनमें से 68 शिकायतें प्रतिबंधित पटाखे फोड़ने की थीं जबकि 10 शिकायतें तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाने से संबंधित थी।
उक्त अधिकारी ने कहा कि इस साल कोलकाता पुलिस ने बड़े पैमाने पर सुरक्षा सुनिश्चित की थी एवं पूरे इलाके में निगरानी अभियान चलाया था। यहां तक कि कोलकाता की विभिन्न बहुमंजिला इमारतों की छतों को भी वॉच टावर के रूप में इस्तेमाल किया गया था ताकि इमारतों की छतों से लोग सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय समय सीमा रात 8:00 से 10:00 बजे के पहले या बाद में किसी तरह की आतिशबाजी न कर सकें। साथ ही बड़ी संख्या में ऑटो किराए पर लेकर गली-गली और चौराहे में गस्ती लगाई गई थी जिससे आतिशबाजी पर बहुत हद तक लगाम लगाई जा सकी| भले ही कोलकाता पुलिस के अधिकारी यह दावा कर रहे हैं कि इस साल आतिशबाजी पर बहुत हद तक लगाम लगाया गया था लेकिन आंकड़े इसके बिल्कुल उलट हैं। सुप्रीम कोर्ट ने मात्र दो घंटे की समय सीमा आतिशबाजी के लिए तय की थी पर काली पूजा और दीपावली के दिन शाम ढलते ही लोगों ने आतिशबाजी शुरू कर दी थी और देर रात तक पूरे क्षेत्र से पटाखों की आवाज आती रही।