Adv
adv Ftr

शिवपुर आईआईएटीटी में 1000 छात्रों के रहने लायक छात्रावास का होगा निर्माण

 

कोलकाता, 23 अक्टूबर (हि.स.)। शिवपुर के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग साइंस एंड टेक्नोलॉजी (आईआईएसटी) के 1000 छात्रों के लिए छात्रावास का निर्माण कार्य जल्द ही शुरू होगा। हाल ही में दिल्ली में संपन्न हुए संस्थान के बोर्ड आफ गवनर्र्स की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।
मंगलवार को "हिन्दुस्थान‌ समाचार" से विशेष बातचीत में आईआईएसटी के रजिस्ट्रार विमान बनर्जी ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि छात्रों के लिए छात्रावास की उचित व्यवस्था नहीं होने की वजह से गत शिक्षा सत्र में नामांकन के लिए मौजूद सीटों की संख्या घटा दी गई थी। शिक्षा सत्र 2015-16 में कुल 935 छात्रों ने यहां एडमिशन लिया था जबकि वर्तमान शिक्षा सत्र में 20 फीसदी घटाकर 585 कर दिया गया था। इसके बाद लगातार संस्थान की ओर से छात्रावास और अन्य ढांचागत विकास के लिए कोशिश की जा रही थी लेकिन केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से इस बारे में बैठक की सहमति नहीं मिलने और फैसला लेने में देरी होने की वजह से ही इसमें इतनी देर हुई है।
विमान ने बताया कि संस्थान के बोर्ड आफ गवर्नर्स का कार्यकाल खत्म हो चुका है। इनकी अंतिम बैठक पिछले साल नौ दिसंबर को हुई थी। उसके बाद हाल ही में संस्थान के लिए नई संचालन समिति की बैठक दिल्ली में हुई थी। उसमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस के निदेशक अनुराग कश्यप भी शामिल हुए थे। इधर हावड़ा के संस्थान की ओर से संचालन समिति के छह सदस्यों ने भी इस बैठक में भागीदारी की थी। बैठक में यह निर्णय लिया गया है की एक अकाडेमी कंपलेक्स बनाने के साथ-साथ कम से कम 1000 छात्रों के रहने लायक छात्रावास का निर्माण कार्य जल्द शुरू होगा। इसके अलावा अब तक संस्थान का दीक्षांत समारोह मार्च में होता रहा है लेकिन यह अब दिसंबर में होगा। इसके साथ ही डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित करने वाले अतिथियों की सूची भी जल्द ही बनाई जाएगी।