ADV2
adv Ftr

आदिवासी और किसानों का लोकसंघर्ष मोर्चा आजाद मैदान में

मुंबई , 22 नवंबर (हि स )। महाराष्ट्र के विभिन्न जिलों से पैदल चलते हुए आदिवासी व किसानों का लोकसंघर्ष मोर्चा गुरुवार को सुबह आजाद मैदान पर पहुंच गया है और यहां शांतिपूर्वक आंदोलन शुरु कर दिया है। लोकसंघर्ष मोर्चा की ओर से गुरुवार को शांतिपूर्वक विधानभवन का घेराव करने की भी तैयारी की जा रही है। आज आजाद मैदान पर पूर्व न्यायाधीश बी.जे. कोलते पाटील, जलपुरुष राजेंद्र सिंह, सुभाष वारे, स्वाभिमानी शेतकरी(किसान)संगठन के अध्यक्ष व सांसद राजू शेट्टी, कालूराम दोधड़े किसानों के लोकसंघर्ष मोर्चे को संबोधित करने वाले हैं। 
उल्लेखनीय है कि मार्च महीने में आदिवासी किसान व अन्य किसानों ने नासिक से मुंबई तक पैदल चलकर मोर्चा निकाला था। उस समय मुख्यमंत्री ने इन किसानों की सभी मांगें मान्य किया था। लेकिन इसके बाद किसानों की किसी भी मांग पर सरकार की ओर से पूरा करने का प्रयास नहीं किया गया । इसलिए फिर से आदिवासी व किसानों ने महिलाओं व बच्चों सहित पैदल लोकसंघर्ष मोर्चा निकाला है।

लोकसंघर्ष मोर्चा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे नेता बाबा आढ़ाव ने बताया कि राज्य सरकार ने किसानों का सात- बारह कोरा करने का आश्वासन दिया था, लेकिन अभी तक सरकार की ओर से किसी भी तरह की कार्रवाई शुरु तक नहीं की गई है,इसलिए आदिवासी समाज व किसानों को लोकसंघर्ष मोर्चा निकालना पड़ा है। सरकार ने आदिवासियों द्वारा प्रयोग में लाई जा रही जमीन को उनके नाम कर सात- बारह पर उनका नाम चढ़ाए जाने का आश्वासन दिया था। लेकिन सरकार की ओर से यह काम भी पूरा नहीं किया गया है। इसलिए हमारा नारा ,सात -बारह कोरा का ही है। आदिवासी और किसानों को उनके उत्पाद को उचित भाव , कर्जमुक्ति सहित 10 प्रमुख मांगें हैं। 
राज्य के विभिन्न जिलों से चलकर आया मोर्चा बुधवार को ठाणे पहुंचा था । यहां सांसद श्रीकांत शिंदे ने मोर्चे में शामिल किसानों, महिलाओं व बच्चों को भोजन आदि की व्यवस्था की थी। इसके बाच चलते हुए यह मोर्चा बुधवार को रात को कुर्ला स्थित सोमैया ग्राउंड पर पहुंचा था। मोर्चा बहुत ही अनुशासित होकर राजमार्ग पर दो कतारों मे होकर कतारबद्ध तरीके सेचल रहा था , इसलिए किसी भी तरह की असुविधा किसी को नहीं हुई थी। बीती रात राज्य के जलसंपदा मंत्री गिरीश महाजन व एकनाथ शिंदे लोकसंघर्ष मोर्चा के आयोजकों से मुलाकात की थी । लेकिन बात नहीं बनी, इसलिए यह मोर्चा आजाद मैदान में पहुंचकर सरकार विरोधी नारेबाजी शुरु कर दिया है। मोर्चे में शामिल महिलाओं ने कहा कि इस बार वह अपनी मांग पूरा होने पर ही वापस अपने घर लौटेंगी। 

Todays Headlines