ADV2
adv Ftr

मेकाज में मरीजों को नहीं मिल रही दवा-आप

 

जगदलपुर, 14 जुलाई (हि.स.)। आम आदमी पार्टी द्वारा डिमरापाल स्थित नये मेकाज भवन पहुंचकर मरीजों से सीधी बात किया गया। चर्चा के दौरान बड़ी संख्या में मरीजों और परिजनों ने शहर और डिमरापाल के बीच आवागमन को लेकर हो रही असुविधओं के बारे में बताया। जिसमें कई परिजनों ने बताया कि मरीज को किसी न किसी तरह से मेकाज तक लाकर भर्ती तो करा दिया जाता है लेकिन उसके बाद डॉक्टरों द्वारा लिखे जाने वाली अनेक दवाईयां अथवा इंजेक्शन मेकॉज के फार्मेसी में ना मिलने की वजह से दिन भर में कई बार शहर के चक्कर काटने में विवश होना पड़ रहा है। 
ज्ञात हो कि बीते दिनों बिना किसी पूर्वनियोजित योजना व तैयारी के आनन-फानन में शहर स्थित जिला महारानी अस्पताल से मरीजों एवं समस्त उपकरणों को डिमरापाल में बने नए भवन में स्थानांतरण कर दिया जा चुका है। जिला अस्पताल अब इक्के-दुक्के डॉक्टरों और कुछ एक स्टॉफ नर्सो के भरोसे संचालित किया जा रहा है। 
बिना किसी ठोस तैयारी के मेकाज में मरीजों को शिफ्ट करने के वजह से मरीजों के परिजनों को दवा, भोजन और आवागमन के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। लोगों का कहना है कि डॉक्टरों द्वारा लिखे जाने वाली ज्यादातर दवाईयां ब्रांडेड होती जो मेकॉज के फार्मेसी में नहीं मिलते जिन्हें लेेने के लिए कई बार शहर जाना पड़ता है और परिसर में कोई कैंटीन ना होने से भोजन व्यवस्था के लिए बार-बार शहर की ओर रूख करना पड़ता है। 
परिजनों का कहना है कि एक तो डिमरापाल में दवाई के कोई भी दुकान नहीं और न ही भोजन के लिए कोई होटल है, न कोई मार्केट है। एक छोटा सा फोटो कॉपी करने के लिए शहर जाना पड़ता है। ऐसे में मरीज के इलाज से कहीं ज्यादा शहर के चक्कर लगाने में खर्च हो रहे हैं। आर्य ने कहा कि आम आदमी पार्टी जिला प्रशासन से मांग करती है कि मेकाज परिसर में जल्द से जल्द कैंटीन खोलने का व्यवस्था की जाए और मरीजों के परिजनों और स्टॉफ के लिए आवागमन के लिए दो सिटी बस दिन भर चलाया जाए, जो सिर्फ शहर के गुरूगोविंद सिंह चौक से मेकाज के बीच चले। इससे परिजनों और स्टॉफ को काफी राहत मिलेगी। इसके अतिरिक्त आर्य ने कहा कि मेकाज प्रशासन सुनिश्चित करें कि डॉक्टर सिर्फ मेकाज में उपलब्ध जेनेरिक दवाओं को ही लिखे और ब्रांडेड और ट्रेड दवाईयां न लिखे। 

Todays Headlines