ADV2
adv Ftr

स्कूल छोड़ने वाले छात्रों के लिए विशेष पाठ्यक्रम शुरू करेगी राज्य सरकार

 

कोलकाता, 28 दिसम्बर (हि.स.)। कभी विषय वस्तु की समझ नहीं होने और कभी किसी अन्य समस्याओं की वजह से बीच में ही पढ़ाई छोड़ने वाले छात्रों को वापस पठन-पाठन की ओर मोड़ने के लिए राज्य शिक्षा विभाग में विशेष पहल की है। अगले शिक्षा सत्र से प्रत्येक क्लास में प्रत्येक विषय के लिए एक अलग से पाठ्यपुस्तक तैयार किया गया है, जिसमें विषय वस्तु से संबंधित संक्षिप्त और ठोस जानकारी रहेगी। जो भी बच्चे विषय वस्तु की समझ नहीं होने की वजह से पठन-पाठन छोड़ने के बारे में सोच रहे होंगे उन्हें लेकर स्कूलों के शिक्षक अलग से क्लास लेंगे, जिसमें इन संक्षिप्त पाठ्यक्रमों के जरिए उन बच्चों को विषय वस्तु को समझने में मदद की जाएगी। इससे आने वाले समय में स्कूल ड्रॉपआउट की दर घटकर शून्य पर पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है। 
शुक्रवार को राज्य शिक्षा विभाग की ओर से इस बारे में जानकारी दी गई है। इसमें बताया गया है कि राज्य सरकार ने स्कूलों के ड्रॉपआउट्स के लिए विशेष पाठ्यपुस्तकों को पेश करने का फैसला किया है, ताकि उन्हें बिना किसी समस्या के अकादमिक सत्र में वापस लाया जा सके। शिक्षा विभाग को भरोसा है कि इस प्रक्रिया के माध्यम से राज्य में ड्रॉपआउट की संख्या को अंततः शून्य तक लाया जाएगा। राज्य शिक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, ये पुस्तकें पहले ही तैयार की जा चुकी हैं और अगले शैक्षणिक वर्ष से शुरू की जाएंगी। प्रत्येक कक्षा के लिए प्रत्येक विषय की पुस्तकों में उस विषय के मुख्य भाग होंगे, ताकि उस पुस्तक का अध्ययन करने वाला छात्र उस विषय के महत्वपूर्ण पहलुओं को सीख ले और नियमित कक्षा के दौरान विषयों को समझने में बहुत कम समस्या का सामना करना पड़े। प्रत्येक स्कूल के शिक्षक बच्चों को लेकर अलग से स्पेशल क्लास करेंगे जो बच्चों को विषय वस्तु को समझने में मददगार साबित होगा।

Todays Headlines