ADV2
adv Ftr

कुलभूषण मामले में पाकिस्तान आज दायर करेगा दूसरा जवाबी हलफनामा

 

इस्लामाबाद, 17 जुलाई (हि.स.)।पाकिस्तान मंगलवार (आज) को कुलभूषण जाधव के मामले में अंतराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में अपना दूसरा जवाबी हलफनामा दाखिल करने वाला है। यह जानकारी मंगलवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

स्थानीय समाचार चैनल जियो टीवी के मुताबिक, पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल के नेतृत्व में एक टीम ने 400 पेज का जवाब तैयार किया है। हलफनामे में इस बात का जिक्र किया गया है कि जाधव कोई साधारण आदमी नहीं है और इसलिए ऐसे में वह विएना संधि के दायरे में नहीं आता है।

जाधव फिलहाल जासूसी के आरोपों में पाकिस्तान की जेल में बंद हैं। पाकिस्तानी सेना ने उन्हें जासूसी और आतंकवाद का दोषी बताते हुए मौत की सजा सुनाई है।

विदित हो कि आईसीजे ने भारत और पाकिस्तान को इस मामले में दोबारा जवाबी निवेदन पत्र दायर करने का आदेश दिया था। भारत ने अपने पहले निवदेन पत्र में जाधव को बेगुनाह बताते हुए इंसाफ दिलाने की मांग की थी।

आईसीजे में अगले साल मार्च-अप्रैल तक मुकदमों की तारीख तय है, इसलिए साल 2019 की गर्मियों के बाद ही यह मामला अंतरराष्ट्रीय अदालत के समक्ष आ सकता है। 

पाकिस्तानी सेना की ओर से भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को जासूसी और आतंकवाद के आरोप में फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद भारत पिछले साल मई में आईसीजे में पहुंचा है।

पिछले साल 18 मई को आईसीजे के 10 जजों ने पाकिस्तान को साफ शब्दों में निर्देश दिया कि जब तक मामले की सुनवाई पूरी नहीं हो जाती है, जाधव को फांसी नहीं दी जाए।

आईसीजे में दायर अपनी याचिका में भारत ने आरोप लगाया है कि कुलभूषण जाधव को राजनयिक संपर्क नहीं देकर पाकिस्तान विएना संधि का उल्लंघन कर रहा है। याचिका में यह भी कहा गया है कि विएना संधि में ऐसा कहीं नहीं लिखा कि जासूसी मामले में फंसे किसी व्यक्ति को राजनयिक संपर्क की सुविधा नहीं दी जा सकती है।