Adv
adv Ftr

शाही रेल "पैलेस ऑन व्हील्स" पहुंची जैसलमेर

 

जैसलमेर, 09 सितम्बर (हि.स.)। देश की लक्ज़री ट्रेनों में शुमार अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पैलेस ऑन व्हील्स इस साल पर्यटन सीजन के लिए अपने पहले सफर पर रविवार सुबह स्वर्ण नगरी जैसलमेर पहुंची। शाही रेल में यात्रा कर जैसलमेर पहुंचे यात्रियों का थार संस्कृति के अनुरूप वाद्य यंत्रो पर "केसरिया बालम आवो नी पधारो म्हारे देश" की स्वर लहरियो व परंपरागत रूप से तिलक एवं माल्यार्पण कर स्वागत किया गया। देशी एवं विदेशी सैलानी इस स्वागत से अभिभूत नज़र आए ।पैलेस ऑन व्हील्स ने 05 सेप्टेम्बर से अपना सफर दिल्ली से शुरू किया था। यह शाही रेल अपने शाही सफर के आनंद के साथ सेप्टेंबर से अप्रैल महीने तक सैलानियों का दिल जीतने वाली अपने सीजन के सभी फेरे पूरे करती है। अभी तक इस ट्रेन की 60 प्रतिशत बुकिंग हो चुकी है। इस ट्रेन की आधिकारिक शुरुआत अक्टूबर से मानी जाती है लेकिन इसकी बेहद लोकप्रियता के चलते आरटीडीसी की ओर से सेप्टेम्बर से चलाने का फैसला हुआ है। 
विश्व प्रसिद्ध पैलेस ऑन व्हील्स 5 सितंबर 2018 को 2018-19 के अपने नए सत्र को शुरू कर रहा है, जिसका 36 साल का गौरवशाली अतीत है, । यह यात्रा जयपुर, सवाई माधोपुर, चित्तौड़, उदयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुर, आगरा दिल्ली के साथ समाप्त दिल्ली में होगी ।इस ट्रेन की कुल क्षमता 82 पैक्स है और पहले उद्घाटन दौरे में 32 पैक्स पर यात्रा कर रहे हैं। इस सत्र के लिए ट्रेन की 60% बुकिंग की पुष्टि हो गई है। 
मेहमानों के आराम और जी.एस.ए. की निरंतर मांग की ओर देखते हुए, इस वर्ष पैलेस ऑन व्हील्स में कई प्रमुख नवीनीकरण के कार्य किये गए है।
-पैलेस ऑन व्हील्स ट्रैन में पूरी नई ओरिएंटल कालीन प्रदान की गई है
- बोर्ड पर उच्चतम स्वच्छता रखने के लिए सभी 41बाथरूमों को मोंटैलिक टाइल्स फर्श और एसीपी दीवारों को ठीक करके नवीनीकृत किया गया है
-पैलेस ऑन व्हील्स ट्रैन के दो रेस्ट्रो बार को फिर से डिजाइन किया है और आरामदायक अंदरूनी दीवारों और छतों के साथ आरामदायक फर्नीचर को पुनर्व्यवस्थित किया है
-ट्रेन के मूल रूप से बाहरी आवरण को क्रीमिश पीले रंग के रंगों से चित्रित किया गया है -ट्रेन के नॉन एसी क्षेत्र को नई मैट द्वारा कवर किया गया है।
-ट्रेन के गहरे नीले और लाल रंग के केबिन को हल्के आकाश नीले और गुलाबी रंग से चित्रित किए गए हैं
- पूरी पैलेस ऑन व्हील्स ट्रैन में नए एलईडी बल्ब और नए स्विच लगाय गए हैं
-ट्रेन के सभी बाथरूम में जैव शौचालय लगाय गए हैं
- ट्रेन को आकर्षक रूप देने के लिए सभी सैलून के गलियारों को चित्रित किया गया है
- नए व्यंजनो के साथ स्थानीय किस्मो को भी इस वर्ष मेनू में शामिल किए गए हैं
शाही रेल के जी.एम. प्रदीप बोहरा ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में बताया की पैलेस ऑन व्हील्स 35 साल से अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड नेम बन चुकी इस शाही रेल की 60 प्रतिशत बुकिंग हो चुकी है। 2018-19 के लिए हम 80 प्रतिशत तक ऑक्युपेंसी लाने की कोशिश करेंगे। इस बार की शाही रेल में कई नवाचार किये गए है तथा व्यापक प्रचार प्रसार के तहत पर्यटन विभाग और सरकार के साथ देश एवं विदेश में लगने वाले मार्ट में डेलिगेशन हिस्सा लेते है। 

Todays Headlines