Today's Top News

img
नई दिल्ली, 07 अप्रैल (हि.स.)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना रोकथाम को लेकर देश भर में चल रहे टीकाकरण अभियान की गति और उम्र सीमा को लेकर केंद्र को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि स्वास्थ्य सुरक्षा सबका हक है और सरकार को इसके लिए लोगों की इच्छा का नहीं बल्कि अनिवार्यता पर जोर देना चाहिए। राहुल गांधी ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि ‘जरूरतों और इच्छा पर बहस करना हास्यास्पद है। प्रत्येक भारतीय सुरक्षित जीवन के अवसर का हकदार है। कांग्रेस नेता का यह ट्वीट टीकाकरण के लिए उम्र सीमा तय करने संबंधी सरकार के फैसले पर आया है। दरअसल सरकार ने पहले 60 साल से अधिक तथा 45 से ज्यादा उम्र के गंभीर बीमार लोगों को टीका लगाने की प्राथमिकता तय की थी। इसके बाद 45 से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन देने का निर्णय लिया गया। ऐसे संक्रमितों को संख्या में हुई अचानक बढ़ोतरी के बाद टीकाकारणंक गति पर सवाल उठने लगे। जिस बाद कई नेताओं ने सरकार से साभिनकोंटिक लगाए जाने की मांग की गई। यहां तक कि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर मांग की है कि अब 18 साल की उम्र से ज्यादा लोगों को भी टीकाकरण में शामिल किया जाए
Adv

You Might Also Like