Adv
adv Ftr

आरबीआई ने 30 गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों का पंजीकरण रद्द किया

 

मुंबई, 14 सितंबर (हि.स.)। भारतीय रिजर्व बैंक ने 30 गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों का पंजीकरण प्रमाण-पत्र रद्द कर दिया है। इनमें से 20 से ज्यादा गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियां मुंबई से संचालित हो रही थीं। अब यह कंपनियां वित्तीय संस्था के रूप में कारोबार नहीं कर सकेंगी। 
भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से बताया गया है कि केंद्रीय बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की धारा 45-आईए (6) के अंतर्गत प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए मुंबई, नवी मुंबई, ठाणे समेत महाराष्ट्र की 30 गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) का पंजीकरण प्रमाणपत्र रद्द कर दिया है। यह कंपनियां भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की धारा 45-आई के खंड (ए) के अंतर्गत निर्धारित किसी गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्‍था का कारोबार नहीं कर सकती हैं। 
आरबीआई ने मुंबई की एक्सकेन फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड, मंधाना फिनलीज प्राइवेट लिमिटेड, मयेकर इनवेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड, हाइराइज फाइनेंस एंड इंवेस्टमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड, निर्वेद ट्रेडर्स प्राइवेट लिमिटेड, निशी ट्रेडिंग एंड इंवेस्टमेंटस प्राइवेट लिमिटेड, चैत्र फाइनेंस एंड लीजिंग लिमिटेड, वीणा इनवेस्टमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड, स्वानरिवर फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड, श्री विजय वल्लभ होल्डिंग्स लिमिटेड, मैरीलैंड लीजिंग एंड इंवेस्टमेंट कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, व्रींकल एंटरप्राइजेस प्राइवेट लिमिटेड, मनी मैनेजर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, केनेडी स्टार फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड,शियरसन इंवेस्टमेंटस एंड ट्रेडिंग कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, दिनयोग फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड, सरल फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड, व्हाइटफील्ड कैपिटल एंड लीजिंग लिमिटेड, दारुका फाइनेंस लिमिटेड, (पूर्ववर्ती एनआईआर-राठी फाइनेंस प्रा. लि.), कैंडर फिनकॉन प्राइवेट लिमिटेड, अनित फिनवेस्ट प्राइवेट लिमिटेड, स्नेहबंधन फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (नवी मुंबई),जयशिवम फाइनेंस एंड इंवेस्टमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड (अंबरनाथ, ठाणे) के पंजीकरण प्रमाण पत्र को रद्द कर दिया है। इसके अलावा पुणे की 3 और नागपुर की दो कंपनियों और अहमदनगर की एक कंपनियों के लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है।