Today's Top News

img

पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा से मारपीट के मामले में आरोपी शिवसेना के सभी छह कार्यकर्ताओं को दोबारा गिरफ्तारी के बाद जमानत मिल गई है। मुंबई की बोरीवली अदालत ने मंगलवार को सभी को 15-15 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी है। अदालत ने यह भी कहा कि जब भी पुलिस बुलाएगी आरोपियों को पेश होना पड़ेगा। 

इससे पहले भी आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी लेकिन तब उन्हें थाने से ही जमानत मिल गई थी। जमानत मिलने के बाद मुंबई पुलिस और राज्य सरकार पर सवाल उठने लगे थे। जिसके बाद आरोपियों को आज फिर गिरफ्तार करके अदालत में पेश किया गया था जहां से उन्हें पहले न्यायिक हिरासत मिली, लेकिन बाद में जमानत दे दी गई। 

क्या है पूरा मामला

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की आलोचना वाले एक कार्टून को व्हाट्सएप पर फॉरवर्ड करना पूर्व नौसेना अधिकारी मदन शर्मा को भारी पड़ गया। शिवसैनिकों ने इस कार्टून को उद्धव का अपमान समझा और पूर्व अधिकारी पर शुक्रवार को जानलेवा हमला कर दिया था।

पुलिस को दिए अपने बयान में शर्मा ने बताया है कि कार्टून फॉरवर्ड करने के बाद बीते शुक्रवार को सुबह 10 बजे से पहले मुझे एक व्यक्ति का फोन आया, जिसने मुझसे नाम और घर का पता पूछा। आधे घंटे बाद, खुद को कमलेश कदम बताते हुए एक व्यक्ति ने फोन किया और पूछने लगा कि मैंने कार्टून क्यों पोस्ट किया। 

शर्मा ने बयान में बताया कि मैंने कदम से कहा कि मैंने सिर्फ कॉर्टून को एक व्हाट्सएप ग्रुप से दूसरे में फॉरवर्ड किया है। इसके बाद दोपहर 12 बजे के करीब, एक अज्ञात व्यक्ति ने मेरे घर के टेलीफोन नंबर पर फोन किया और कहा कि मैं सोसायटी के गेट पर आऊं, क्योंकि वह मुझसे बात करना चाहता है। 

पूर्व नौसेना अधिकारी ने बताया कि जब मैं सोसायटी के गेट पर पहुंचा तो वहां 8-10 लोग खड़े थे। उन्होंने मुझसे पूछा कि मैंने उस कॉर्टून को व्हाट्सएप पर क्यों पोस्ट किया। मैंने उन्हें फिर बताया कि मैंने सिर्फ एक ग्रुप से दूसरे ग्रुप में फॉरवर्ड किया है। लेकिन उन्होंने मेरी एक न सुनी और मुझे बुरी तरह पीटने लगे।

Adv

You Might Also Like