ADV2
adv Ftr

बंद के दौरान पत्थरबाजी करने के आरोप में दो गिरफ्तार

तिनसुकिया (असम), 10 फरवरी (हि.स.)। नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध के नाम पर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध करने के लिए ताई आहोम युवा परिषद द्वारा आहूत 12 घंटा असम बंद के दौरान तिनसुकिया में की गई हिंसा को लेकर पुलिस जांच में जुटी हुई है। इस मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने हिंसा फैंलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। जिनकी पहचान अरुण बुढ़ागोहाईं और जिंटू माउत के रूप में की गई है। पुलिस अन्य आरोपितों को पकड़ने के लिए अभियान चला रही है।
रविवार को पुलिस सूत्रों ने बताया है कि बंद के दौरान शनिवार को सड़क पर चल रहे एक ट्रक पर पत्थर फेंककर शीशा तोड़ने, ऑटो चालक की पिटाई करने और कोल इंडिया के अस्पताल की चिकित्सक दिव्या सिंह के वाहन पर हमला कर न सिर्फ उसे क्षतिग्रस्त किया, बल्कि चिकित्सक दिव्या सिंह को भी शारीरिक रूप से घायल किया गया है। 
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार जिले में बंद के दौरान चिकित्सक की कार (एएस-06क्यू-5636) पर बंद समर्थकों ने पत्थरबाजी की, जिसके चलते चिकित्सक दिव्या सिंह के सर में गंभीर चोट लगीहै। दिव्या सिंह ने इस संबंध में एक मामला दर्ज कराया। जिसके बाद बीती मध्य रात्रि को तिनसुकिया पुलिस अधीक्षक शिलादित्य चेतिया और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आसिफ अहमद के नेतृत्व में चलाए गए अभियान के दौरान दो बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने इस मामले में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर गिरफ्तार दोनों बंद समर्थकों से पूछताछ कर रही है।

Todays Headlines