ADV2
adv Ftr

देश के सर्वाधिक सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग उप्र में : राष्ट्रपति

 

लखनऊ, 10 अगस्त (हि.स.) । राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि देश के सर्वाधिक सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) उत्तर प्रदेश में हैं। उत्तर प्रदेश के विकास के बगैर भारत का विकास असंभव है।
राष्ट्रपति कोविंद राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को ‘एक जनपद-एक उत्पाद’ (ओडीओपी) समिट के उद्घाटन के बाद समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश के कुल हस्तशिल्प में प्रदेश का बहुत बड़ा योगदान है। यह प्रतिभाओं वाला प्रदेश है। भारत रत्न 45 विभूतियों को दिया जा चुका है, उनमें से 11 लोगों की कर्मस्थली उत्तर प्रदेश रही है। उत्तर प्रदेश ने देश को सर्वाधिक प्रधानमंत्री भी दिया। जो यहां से चुनाव लड़ता है, वह प्रधानमंत्री हो जाता है। 
राष्ट्रपति ने उम्मीद जतायी कि ओडीओपी समिट से और इस योजना से युवाओं को बहुत रोजगार मिलेगा। उत्पादों की ब्रांडिंग करने से यहां के कारीगरों और उ़द्यमियों को प्रसिद्धि मिलेगी। साथ ही अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी। इसके अलावा केंद्र सरकार के स्टैंड-अप और स्टार्ट-अप योजना को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि देश के प्रमुख स्थानों पर उप्र के उत्पादों की प्रदर्शनी लगनी चाहिये।
तीर्थराज प्रयाग में आयोजित होने वाले कुम्भ मेले की चर्चा करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि कुम्भ पर पूरे विश्व की नजर रहेगी। इसलिए कुम्भ के अवसर पर भी प्रदेश के उत्पादों की प्रदर्शनी लगनी चाहिये।
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के उत्पादों की देश और विदेशों में बहुत मांग है। इस योजना से देश के अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचेगा। राष्ट्रपति ने इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया और उत्तर प्रदेश की संस्कृति व धरोहरों की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि अटल जी कहा करते थे कि उत्तर प्रदेश ही उत्तम प्रदेश है। यूपी प्रतिभा वाला राज्य है। इस प्रतिभा को तराशने की जरूरत है। 
रामनाथ कोविंद ने कहा कि ‘वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट समिट’ के आयोजन से मैं प्रतिभागियों में एक विशेष उत्साह का अनुभव कर रहा हूं। यह योजना प्रदेश की जनता के लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकती है। जिस तरह से प्रदेश का माहौल बदल रहा है निवेशक आ रहे हैं उससे प्रदेश की अर्थव्यवस्था एक ट्रिलियन डॉलर की हो सकती है। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजन के लिए मुख्यमंत्री योगी और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को बधाई भी दी। 
राष्ट्रपति ने राजधानी के गोमती नगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में तीन दिवसीय ओडीओपी समिट का उद्घाटन करने से पहले प्रदेश के सभी 75 जिलों के उत्पादों की लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया और बटन दबाकर व्यापारियों को 1006 करोड़ रुपये का ऋण दिया। राष्ट्रपति की उपस्थिति में ही क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया, अमेजन, एनएसई, बीएससी और जीई हेल्थकेयर के प्रतिनिधियों व राज्य सरकार के बीच करार पर हस्ताक्षर भी किए गए। प्रदेश सरकार के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग द्वारा इस समिट का आयोजन किया गया है। 

Todays Headlines