ADV2
adv Ftr

विधानभवन के सामने दम्पति ने बेटी संग किया आत्मदाह का प्रयास

लखनऊ, 25 अक्टूबर (हि.स.)। बहराइच पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर पीड़ित परिवार गुरुवार को आत्मदाह के लिए लखनऊ स्थित विधान भवन पहुंचा। केरोसिन डालकर आत्मदाह करने से पहले ही परिवार को पुलिस कर्मियों ने दबोच लिया और हजरतगंज कोतवाली के सुपुर्द कर दिया। 
बकौल पुलिस, पीड़ित परिवार के मुखिया सचिन का कहना है कि वह हुजूरपुर थाना क्षेत्र स्थित चिरईया टांड गांव का रहने वाला है। पांच माह पूर्व उनकी 14 वर्षीय बेटी अपने मामा के घर शादी कार्यक्रम में औरेया के दिबीयापुर गयी थी। आरोप है कि उनकी बेटी का अपहरण गांव के ही रहने वाले राजू प्रजापति व सुधीर शर्मा उर्फ अमित ने कर लिया। उन लोगों के खिलाफ बहराइच थाने में तहरीर भी दी है। 
घटना को पांच माह बीत चुके हैं, पुलिस अब तक उनकी बेटी को खोज नहीं पाई है। थाना प्रभारी से न्याय की गुहार लगाई गई, लेकिन उन्होंने इसमें कोई ठोस कदम नहीं उठाया। इसके बाद पीड़ित परिवार न्याय के लिए जिला प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों से भी मुलाकात की, बावजूद इसके अब तक पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। 
पुलिस की लापरवाही से आजिज होकर सचिन अपनी पत्नी और दूसरी बेटी को लेकर गुरुवार को आत्मदाह के लिए विधान भवन के गेट नम्बर तीन पर पहुंच गया। गेट पर पहुंचते ही पीड़ित परिवार ने हाथ में लिये केरोसीन का डिब्बा अपने ऊपर उड़ेल लिया और माचिस जलाने वाले ही थे कि वहां मुस्तैद पुलिस कर्मियों ने उन्हें पकड़ लिया। पीड़ित परिवार को हजरतगंज थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया है। 
इस सम्बन्ध में अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में आया है। घटना दूसरे जनपद की है। सम्बन्धित थाने से सम्पर्क कर पीड़ित परिवार को पूरी मदद दी जायेगी।