ADV2
adv Ftr

संवैधानिक संस्थाओं को ध्वस्त कर रही मोदी सरकार : पूर्व सचिव

 

लखनऊ, 07 अगस्त(हि.स.)। मोदी सरकार संवैधानिक संस्थाओं को ध्वस्त कर रही है। चार वषों से उग्रवादी संगठन धार्मिक उन्माद फैलाकर गौरक्षा के नाम पर हत्याएं कर रहे हैं। देश में भय व आतंक का माहौल है। यह बातें मंगलवार को प्रेस क्लब में पूर्व सचिव, भारत सरकार व भारत जन ज्ञान विज्ञान समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरीश चन्द्र ने कही। वहीं भीड़ हिंसा के विरोध में 09 अगस्त को भारत बंद का आह्वान किया। 
हरीश ने कहा कि मोदी सरकार में योजना आयोग, यूजीसी, संघ लोक सेवा आयोग, चुनाव आयोग आदि के मूलभूत ढांचे को खत्म किया जा रहा है। सरकार संवैधानिक संस्थाओं को स्वयं के नियंत्रण में लेकर नागरिकों के अधिकार पर कुठाराघात कर रही है। 
पूर्व सचिव ने कहा कि मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल की रिपोर्ट के अनुसार भीड़ हिंसा की सबसे अधिक घटनाएं गुजरात व उत्तर प्रदेश में हुई हैं, जबकि यहां सुशासन का दावा है। 
चन्द्र ने कहा कि बीते अप्रैल में भारत बंद में शामिल प्रदर्शनकारियों पर फर्जी मुकदमें दर्ज किये गये और वापस नहीं लिये जा रहे हैं। वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरुद्ध हत्या व साक्षी महाराज के खिलाफ डकैती और ब्लात्कार के मुकदमें दर्ज हैं, लेकिन इनके मुकदमों वापस लिये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार में संयुक्त सचिव के लिये आरक्षण को खत्म कर दिया गया है। सरकार पूंजीपतियों को देश का बागडोर सौंप रही है, यह देश के लिये घातक है।