ADV2
adv Ftr

'किन्नर कैलाश तीर्थ यात्रा' पर स्थाई तौर पर रोक

 

शिमला, 08 अगस्त (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में खराब मौसम का असर किन्नौर जिले की प्रसिद्व धार्मिक 'किन्नर कैलाश तीर्थ यात्रा' पर पड़ा है। जिला प्रशासन ने किन्नर कैलाश यात्रा पर स्थाई तौर पर रोक लगा दी है। यह यात्रा आधिकारिक तौर पर बीते दो अगस्त से शुरू हुई थी और 11 अगस्त को समाप्त होनी थी, लेकिन चार दिन पहले ही यात्रा पर विराम लग गया है। किन्नौर के कार्यकारी उपायुक्त अवनिंद्र कुमार ने किन्नर यात्रा पर रोक लगाने संबंधी आदेश जारी कर दिया है। खराब मौसम के कारण प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। 
इस यात्रा के दौरान बीती रात एक श्रद्धालु की मौत हो गई थी। मृतक की पहचान 60 वर्षीय संजय के रूप में हुई है, जो मुजफ्फरनगर का मूल निवासी था। पुलिस ने बताया कि यात्रा के आखिरी पड़ाव स्थल गुफा नामक स्थान पर ठंड लगने से श्रद्वालु की मौत हुई है। अधिकतर श्रद्धालु अभी भी गुफा के पास फंसे हैं, जिन्हें सुरक्षित निकाला जा रहा है। 
बीते 28 जुलाई को तीर्थयात्रा के आधिकारिक तौर पर शुरू होने से पहले पैदल रास्ते में अचानक आई बाढ़ में दो भक्तों की मौत हो गई थी, जबकि 251 श्रद्वालुओं को बचा लिया गया था। 
उल्लेखनीय है कि किन्नौर का किन्नर कैलाश स्थल समुद्र तल से 24 हजार फीट की ऊंचाई पर है और यहां पर प्राकृतिक शिवलिंग की ऊंचाई करीब 79 फीट है। किन्नौर जिला मुख्यालय से सात किलोमीटर दूर पोवारी से सतलुज नदी पार कर ठोलिंग गाव से होकर यहां 15 किलोमीटर का पैदल सफर करना पड़ता है। इसे दूसरा कैलाश माना जाता है।

Todays Headlines