Food-safety-vegetables-washing

Cleanliness rating for Gujarat's highest food establishments, Tamil Nadu second

गुजरात के सबसे ज्यादा खाद्य प्रतिष्ठानों को मिला स्वच्छता रेटिंग, तमिलनाडु दूसरे स्थान पर

नई दिल्ली , 27 जून (हि.स.)। गुजरात के सबसे ज्यादा खाद्य प्रतिष्ठानों को स्वच्छता रेटिंग का प्रमाण पत्र मिला है। भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) साल 2021-22 के जारी प्रमाण पत्रों के आंकड़ों के अनुसार, गुजरात खाद्य प्रतिष्ठानों स्वच्छता रेटिंग की सूची में सबसे ऊपर है।

एफएसएसएआई ने इस साल मार्च तक देश में 16,059 खाद्य प्रतिष्ठानों को रेटिंग दी है। गुजरात में 4,340 रेस्तरां, होटल को स्वच्छता रेटिंग का प्रमाण पत्र दिया गया है। दूसरे स्थान पर तमिलनाडु है जहां 2,532 फूड जॉइंट्स को रेटिंग मिली है, वहीं 2,210 खाद्य प्रतिष्ठानों के साथ हरियाणा तीसरे स्थान पर है। कर्नाटक के 973 खाद्य प्रतिष्ठान, केरल के 114 फूड जॉइंट्स, तेलंगाना के 47 खाद्य प्रतिष्ठानों को स्वच्छता रेटिंग दी गई है।

एफएसएसएआई के अधिकारी ने बताया एफएसएसएआई खाद्य प्रतिष्ठान, जैसे रेस्तरां, कैफेटेरिया, बेकरी, मिठाई की दुकानें और मांस भारत में खुदरा दुकानों में स्वच्छता का वैज्ञानिक रूप से आंकलन कर उन्हें प्रमाणपत्र जारी करती है जिससे ग्राहकों को रेस्तरां एवं दुकानों के चयन में आसानी हो। एफएसएसएआई के स्कोर व्यवसायों को स्वच्छता मानकों को सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित करता है और उपभोक्ताओं को भी विकल्प के चयन करने में सशक्त बनाता है। उन्होंने बताया कि स्वच्छता रेटिंग प्रमाणन प्राप्त करने वाले ऐसे खाद्य प्रतिष्ठानों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यह क्रमिक वृद्धि योजना के बारे में बढ़ती जागरूकता को इंगित करती है।

एफएसएसएआई के मुताबिक छोटे खाद्य व्यवसाय ऑपरेटरों (एफबीओ), जैसे ढाभा, खाद्य ट्रक और यहां तक कि मिड-डे मील रसोई, को स्वच्छता रेटिंग योजना (एचआरएस) के तहत कवर किया जा रहा है, जिसे पहली बार पायलट परियोजना के तौर पर दिसंबर 2018 में महाराष्ट्र में शुरू किया गया था। बाद में पूरे देश में लॉन्च किया गया। उल्लेखनीय है कि साल 2020 में 1,837 प्रतिष्ठानों को प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया, जबकि 2019 में यह आंकड़ा 867 था।


Comment As:

Comment (0)