pol3

Congress's Dehradun silent fast picketing

हरीश रावत समेत कांग्रेस नेता महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे मौन उपवास पर बैठे

देहरादून, 08 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तराखंड कांग्रेस नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऋषिकेश दौरे को निराशाजनक बताते हुए शुक्रवार को गांधी पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे एक दिवसीय मौन उपवास पर बैठ कर अफसोस दिवस मनाया।

इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने प्रधानमंत्री के दौरे को सैरसपाटा बताते हुए कहा कि राज्य को न तो किसी परियोजना की सौगात दी और न ही यहां के बेरोजगारों के लिए रोजगार देने की दिशा में कोई बात की। प्रधानमंत्री ने अपनी असंवेदनहीनता को दर्शाते हुए लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों के प्रति संवेदना का एक शब्द तक नहीं कहा।

उन्होंने कहा कि अच्छा होता यदि प्रधानमंत्री मोदी ऋषिकेश स्थित एम्स में मेडिकल सीट बढ़ाने की घोषणा करते तो पर्वतीय जनपदों में चिकित्सकों की कमी को पूरा किया जा सकता था। उन्होंने कहा कि भाजपा की राज्य सरकार के साढ़े चार साल के शासन काल में समाज का हर वर्ग निराश है। चार धाम के तीर्थ पुरोहित राज्य सरकार की नीतियों से गुस्सा हैं। सरकार कुछ पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए किसानों से खेल रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस लोकतंत्र को बचाने के लिए आंदोलित है। उन्होंने कहा कि सरकार ने सत्ता की हनक में तीनों काले कानून पारित किए। आज देशभर में इन कानूनों के खिलाफ चारों ओर से आवाज उठ रही है। आज देशभर में भाजपा शासित राज्यों में अराजकता का माहौल व्याप्त है, देश का नौजवान और किसान अपने अधिकारों के लिए सड़कों पर है।

उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी में भाजपा ने जिस दमनकारी नीति का परिचय देते हुए शांतिपूर्ण आन्दोलन को कुचलने का काम किया है उससे अंग्रेज शासकों की याद ताजा हो गई है। जब विपक्षी दलों ने सरकार को घेरा तो विपक्षी दल के नेताओं को झूठे आरोपों में गिरफ्तार किया गया। आने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य विरोधी नीति के लिए भाजपा को खामियाजा भुगतना पड़ेगा।
 


Comment As:

Comment (0)