4v54vv

Controversy over CM Ashok Gehlot's condolences tweets

सीएम अशोक गहलोत के संवेदना ट्वीट्स पर विवाद, पूनियां बोले-ये तो पराकाष्ठा

जयपुर, 01 अगस्त (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के एक ही जैसी दो अलग-अलग घटनाओं पर दो अलग-अलग ट्वीट्स में विरोधाभास का मामला अब सियासी गलियारों में चर्चा में है। मुख्यमंत्री के ये दोनों ट्वीट्स प्रदेश के दो अलग-अलग ज़िलों में तालाब में डूबने के मृतकों के परिजनों को संवेदना जताने के लिए किए गए थे। लेकिन, इनमें से एक ट्वीट में समुदाय विशेष को 'सम्मान' देने पर भाजपा ने मुख्यमंत्री को निशाने पर लेना शुरू कर दिया है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए पराकाष्ठा बताया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अधिकारिक ट्विटर हैंडल से पहली घटना का ट्वीट रविवार दोपहर तीन बजकर 33 मिनट पर किया गया। इसमें श्रीगंगानगर के रामसिंहपुर क्षेत्र के उदासर गांव में खेत में पानी की डिग्गी में डूबने की घटना का ज़िक्र किया गया। मुख्यमंत्री गहलोत ने इस घटना में पांच बच्चों की मृत्यु पर दुख जताया, साथ ही बच्चों के परिजनों के प्रति संवेदनाएं मात्र प्रकट की। मुख्यमंत्री के ट्विटर हैंडल पर ठीक कुछ घंटों बाद ही शाम छह बजकर 16 मिनट पर ऐसी ही एक अन्य घटना को लेकर शोक संवेदना का ट्वीट जारी किया गया। इसमें मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र जोधपुर के फलोदी के बेंदती कला गांव की घटना का ज़िक्र किया गया। ये घटना भी तालाब में डूबने से दो युवकों की मृत्यु की रही। इस ट्वीट में मृतकों को सम्मान स्वरुप 'श्री' का तमगा दिया गया और मुआवज़े का ऐलान भी किया गया, जो राजस्थान भाजपा के गले नहीं उतर रहा है।

जोधपुर की घटना को लेकर किए ट्वीट में लिखा गया, 'श्री रहमतुल्लाह एवं श्री अकरम की मृत्यु दुखद है। मृतकों के परिजनों को चिरंजीवी दुर्घटना बीमा योजना के अन्तर्गत पांच लाख रुपये की सहायता राशि दी जाएगी।' इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से बारिश के मौसम में छोटी सी लापरवाही जानलेवा साबित होने की बात कहते हुए हरसंभव सावधानी बरतने की अपील भी की।

मुख्यमंत्री के ट्विटर हैंडल से एक जैसी दो अलग-अलग घटनाओं को लेकर संवेदना ट्वीट्स और मुआवज़े के ऐलान में विरोधाभास पर भाजपा ने आपत्ति दर्ज करवाई है। प्रदेशाध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने मुख्यमंत्री के दोनों विरोधाभासी ट्वीट्स के स्क्रीनशॉट्स अपने ट्विटर हैंडल पर साझा किये हैं। डॉ पूनिया ने अपनी प्रतिक्रिया में लिखा कि 'दो अलग अलग दुर्घटनाओं पर मुख्यमंत्री महोदय के अलग-अलग ट्वीट हैं और यदि यह सत्य है तो दुर्भाग्यपूर्ण भी है और पराकाष्ठा भी है।'

Controversy over CM Ashok Gehlot's condolences tweets

Comment As:

Comment (0)