pet

Hardeep singh puri claimed on petroleum prices

क्यों नहीं घट रहीं पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतें : मंत्री

कोलकाता, 23 सितंबर (हि.स.)। भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में ममता बनर्जी के खिलाफ प्रचार करने पहुंचे केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि देशभर में पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत इसलिए नहीं घट रही है क्योंकि राज्य की सरकारें इस पर लगने वाला टैक्स कम करने का नाम नहीं ले रही हैं।

गुरुवार को पुरी ने यहां कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजारों पर निर्भर है। केंद्र ने कभी भी इसकी कीमत नहीं बढ़ाई है। पुरी ने कहा कि देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम ईंधन को जीएसटी के दायरे में लाना होगा। राज्य सरकार ऐसा नहीं करने दे रही हैं। पुरी ने बताया कि पश्चिम बंगाल में पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये के पार हो गई हैं क्योंकि ममता बनर्जी की सरकार ने भारी टैक्स लगा रखा है।

उन्होंने कहा कि अगर आपका सवाल है कि क्या आप चाहते हैं कि पेट्रोल की कीमतें कम हों, तो इसका जवाब हां है। अब, अगर आपका सवाल है कि पेट्रोल की कीमतें नीचे क्यों नहीं आ रही हैं, तो इसका जवाब है क्योंकि राज्य इसे जीएसटी के तहत लाना नहीं चाहते हैं। उन्होंने बताया कि केंद्र 32 रुपये प्रति लीटर (टैक्स के रूप में) लेता है। हमने 32 रुपये प्रति लीटर कर टैक्स लिया, जब ईंधन की कीमत 19 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल थी, और हम अभी भी वहीं ले रहे हैं, जबकि कीमत बढ़कर 75 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल हो गई है। पुरी ने बताया कि पेट्रोलियम उत्पादों पर लगने वाले टैक्स से होने वाली आय देश में विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में मददगार होती है।

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार ने जुलाई में कीमतों में 3.51 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की, जिसके चलते पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से महंगा हो गया। उन्होंने आगे कहा कि पश्चिम बंगाल में संयुक्त कराधान लगभग 40 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि बयान देना बहुत आसान है। अगर ममता बनर्जी की सरकार चाहती कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत 100 से कम रहें तो केवल 3.51 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की होती।

हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/गंगा


Comment As:

Comment (0)