1v2xz

Jharkhand politics at its peak after cash was recovered

कांग्रेस के विधायकों के पास से नकदी बरामद होने पर झारखंड में सियासत गरम

रांची, 31 जुलाई (हि.स.)। झारखंड के तीन कांग्रेस विधायकों की गाड़ी से बेनामी पैसे की बरामदगी मामले में राजनीति चरम पर है। भाजपा ने जामताड़ा विधायक डॉ. इरफान अंसारी की गाड़ी से बरामद हुई राशि के बाद हमले तेज कर दिये हैं। भाजपा बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कांग्रेस के तीनों विधायकों के पैसे के साथ पकड़े जाने पर ट्वीट करते हुए कहा है कि 'भ्रष्टाचार में डूबी सरकार का हरेक घटक दल राज्य को अंदर से खोखला करना चाहता है। राज्य के मुखिया से लेकर विधायक, चमचे सबके सब भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबे हैं'।

निर्दलीय विधायक सरयू राय ने इस संबंध में कहा कि झारखंड प्रदेश कांग्रेस और अखिल भारतीय कांग्रेस के पदाधिकारियों को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि उनके विधायक पैसे लेकर झारखंड आ रहे थे या झारखंड से जा रहे थे? पूछा कि पैसे का स्रोत स्थल कहां है-असम, बंगाल या झारखंड? उन्होंने कहा कि आयकर विभाग और ईडी झारखंड के तीनों विधायकों से बरामद नोटों के बंडलों का स्रोत जांचे। बंगाल सरकार पर सब कुछ छोड़ना तर्कसंगत नहीं है। झारखंड की राजनीति में और राजनीतियों में पल रहे भ्रष्टाचार के कैंसर को दूर करना जरूरी है।

राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने विधायकों के कैश के साथ पकड़े जाने पर कहा है कि झारखंड के पैसे, जनता के पैसे हैं। बंगाल में पूंजी निवेश करने ये तीनों नहीं जा रहे थे। गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने पूरे मामले पर सीबीआई जांच की मांग की है। कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि झारखंड में भाजपा का ऑपरेशन लोटस हावड़ा में बेनकाब हो गया। दिल्ली में हम दो का गेम प्लान झारखंड में वही करने का है, जो उन्होंने महाराष्ट्र में एकनाथ-देवेंद्र की जोड़ी से करवाया।

सरकार गिराने के लिए हर विधायक को 10 करोड़ का ऑफर

इधर,कांग्रेस के तीन विधायकों के पास पैसे बरामद होने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने यह कहकर सनसनी फैला दी है कि सरकार गिराने के लिए हर विधायक को 10 करोड़ का ऑफर दिया गया है। पूरे मामले को लेकर कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने रांची के अरगोड़ा थाना में प्राथमिकी भी दर्ज करवा दी है।

बेरमो विधायक अनूप सिंह ने पश्चिम बंगाल में पकड़े गए तीनों विधायकों के खिलाफ गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा है कि उन लोगों ने उन्हें भी फोन किया था और कोलकाता आने का न्योता दिया था। साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि अगर विधायक को आप साथ लेकर आते हैं तो प्रति विधायक के अनुसार उन्हें 10 करोड़ दिया जाएगा।

अरगोड़ा थाना में दिए गए आवेदन में कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने लिखा है कि उन्हें विधायक राजेश कच्छप और इरफान अंसारी ने फोन कर कहा था कि वह कोलकाता आए और सरकार को अपदस्थ करने में उनकी मदद करें। नए सरकार में उन्हें बेहतर पोजिशन दी जाएगी। साथ सभी विधायकों को 10 करोड़ रुपये भी मिलेंगे।

Jharkhand politics at its peak after cash was recovered

Comment As:

Comment (0)