polic 01 _795

Police sent notice to Chief Minister's house demolition case, MP and President of BJP Yuva Morcha

मुख्यमंत्री आवास तोड़फोड़ मामला, सांसद एवं भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष को पुलिस ने भेजा नोटिस

नई दिल्ली , 26 अप्रैल (हि.स.)। उत्तरी जिले के सिविल लाइन स्थित मुख्यमंत्री आवास पर प्रदर्शन के दौरान की गई तोड़फोड़ के मामले में पुलिस ने सांसद एवं भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या को नोटिस भेजा है। उन्हें 28 अप्रैल को सिविल लाइन थाने में पेश होने के लिये कहा गया है।

इससे पहले पूर्व मेयर जयप्रकाश और भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष वासु रुखड्ड सहित 10 आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

क्या था पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक बीते एक अप्रैल को भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा ने मुख्यमंत्री आवास के पास प्रदर्शन किया था। यह प्रदर्शन विधानसभा में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को लेकर दिए गए बयान के विरोध में आयोजित किया गया था। इस प्रदर्शन के दौरान कुछ लोगों ने जाकर मुख्यमंत्री आवास के बाहर तोड़फोड़ की थी।

उन्होंने बूम बैरियर एवं सीसीटीवी को तोड़ने के अलावा मुख्य गेट पर पेंट गिराया था। इस घटना को लेकर सिविल लाइन थाना पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर आठ आरोपितों को गिरफ्तार किया था। लगभग दो सप्ताह जेल में रहने के बाद उन्हें जमानत मिली थी।

इस मामले में आगे जांच करने के बाद पुलिस ने पूर्व मेयर जयप्रकाश और युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष वासु रुखड्ड को गिरफ्तार किया था, लेकिन दोनों को थाने से ही जमानत दे दी गई थी। अब पुलिस ने भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष एवं सांसद तेजस्वी सूर्या को नोटिस भेजा है जिनकी अगुवाई में यह प्रदर्शन आयोजित हुआ था।

पुलिस मुख्यालय से मिले निर्देश पर जांच अधिकारी की तरफ से यह नोटिस भेजकर उन्हें 28 अप्रैल को सिविल लाइन्स थाने में बुलाया गया है।

पुलिस सूत्रों की मानें तो इस मामले में अभी तक लगभग दो दर्जन आरोपितों के शामिल होने की बात सामने आई है। इनमें से 10 लोगों को पहले गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर में सात साल से कम सजा का प्रावधान है जिसकी वजह से गिरफ्तार होने वाले आरोपितों को थाने से ही जमानत दी जा रही है। केवल पहले आठ आरोपितों को ही इस मामले में जेल भेजा गया था। फिलहाल इस मामले में अभी 14 ऐसे आरोपित हैं जिनकी पहचान पुलिस ने कर ली है।
 


Comment As:

Comment (0)