NewsDnnTV
NewsDnnTV
Monday, 10 Jan 2022 18:30 pm
NewsDnnTV

NewsDnnTV

मुंबई, 11 जनवरी, (हि. स.)। पश्चिम रेलवे अनधिकृत यात्रा पर रोक लगाने के लिए नियमित टिकट जांच अभियान चला रही है। इसी कड़ी में पश्चिम रेलवे ने अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक की अवधि के दौरान अनियमित यात्रा करने वालों से 68 करोड़ रुपये और बिना मास्क के मामलों से 41.09 लाख रुपये का राजस्व जुर्माने स्वरूप प्राप्त किया है।

पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक की गई जांच के दौरान बिना बुक किए सामान के मामलों सहित बिना टिकट व अनियमित यात्रा के लगभग 11.76 लाख मामले पकड़े गए, जिसके परिणामस्वरूप 68 करोड़ रु. का राजस्व वसूला गया। इसी अवधि के दौरान आरक्षित टिकटों के हस्तांतरण के 8 मामलों का पता लगाया गया और 12,085 रु. का जुर्माना लगाया गया। इसके अलावा 413 भिखारी और 534 अनाधिकृत फेरीवाले आदि को भी पकड़ा गया, जिनमें से 175 पर चालान कर 60,515 रु. रेलवे बकाया के रूप में वसूल किया गया। 359 व्यक्तियों पर मुकदमा चलाया गया और 1,33,670 रु. का जुर्माना वसूल किया गया।

टिकट चेकिंग स्टाफ को बिना मास्क के यात्रियों से जुर्माना लेने का अधिकार दिया गया है। परिणामस्वरूप 17 अप्रैल 2021 से दिसंबर 2021 तक बिना मास्क के 10 हजार से अधिक मामलों में पश्चिम रेलवे पर 19.75 लाख रुपये का जुर्माना प्राप्त किया गया। इसी प्रकार पश्चिम रेलवे के मुंबई उपनगरीय खंड पर आरपीएफ और बीएमसी द्वारा आयोजित संयुक्त जांच में 21 अप्रैल से 21 दिसंबर तक लगभग 21.34 लाख रुपये का जुर्माना लिया गया। पश्चिम रेलवे ने असुविधा से बचने के लिए वैध टिकट एवं पहचान पत्र साथ यात्रा करने की अपील की है।