go

birth anniversary of Guru Gobind Singh

गुरु गोबिन्द सिंह की जयंती पर गूंजे शबद, हुआ रक्तदान

उदयपुर, 09 जनवरी (हि.स.)। ‘चिड़िया नाल ते बाज लड़ावां..’ के प्रेरक उद्घोष के साथ धर्म की रक्षार्थ युवाओं को बलिदान की राह पर डट कर खड़े रहने की सीख देने वाले सिक्ख पंथ के दसवें गुरु गोबिंद सिंह का प्रकाशोत्सव रविवार को श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया गया। कोविड बचाव की गाइडलाइन के चलते वृहद स्तर पर होने वाले आयोजन नहीं हो सके, हालांकि गुरुद्वारों में शबद कीर्तन सहित रक्तदान व अन्य समाज सेवा के कार्यों का दौर रहा।

उदयपुर के प्रमुख माने जाने वाले सिक्ख काॅलोनी स्थित गुरुद्वारा सचखण्ड दरबार में गुरु गोबिन्द सिंह जयंती के आयोजनों का दौर शनिवार रात से ही शुरू हो गया। सचखण्ड दरबार सहित अन्य गुरुद्वारों को रंग-बिरंगी रोशनी से सजाया गया है। रविवार सुबह सचखण्ड दरबार में सिक्ख युवाओं की ओर से रक्तदान किया गया। गुरुद्वारे में कीर्तन दीवान सजा। लोगों ने कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए गुरुद्वारा पहुंचकर श्री गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका। अन्य गुरुद्वारों में भी विविध सामाजिक आयोजन हुए।


Comment As:

Comment (0)