15dl_m_18_15092021_1

champaran claypots got international recognition

चंपारण के मिट्टी से बने बर्त्तन अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बिकेगी: मंत्री

मोतिहारी,15 सितंबर(हि.स.)।जिले के हरसिद्धि स्थित कोल्ड स्टोरेज के रिसोर्ट में आज एक दिवसीय हस्तशिल्प सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन जिला प्रभारी मंत्री सुनील कुमार एवं जिलाघिकारी शीर्षत कपिल अशोक,भारत सरकार के हस्तशिल्प वस्त्र विभाग के निदेशक मुकेश कुमार, विधायक कृष्णनंदन पासवान,भाजपा राष्ट्रीय परिषद के सदस्य राजेंद्र प्रसाद गुप्ता ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। मौके पर प्रभारी मंत्री सुनील कुमार ने कहा कि चंपारण की मिट्टी से बनी बर्तनों को विदेशी मार्केट तक ले जाने के लिए भारत एवं बिहार सरकार प्रयास कर रही है। चंपारण के इन कलाकारों के मनोबल बढ़ाने के लिए सरकार सेमिनार के साथ कई तरह आयोजन करेगी। साथ ही इन्हे अनुदान व मुआवजा भी देगी। उन्होंने बताया कि हस्तशिल्प कलाकारों को चयनित कर उनके बनाए वस्तु को बाजार में पहुंचाने के लिए सरकार प्राथमिकता के तौर पर हर प्रयास करेगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि हरसिद्धि प्रखंड अंतर्गत 50 हस्तशिल्प कलाकारों को मुफ्त में बिजली चालित चाक का वितरण किया है। जिससे हस्तशिल्प कलाकार कम समय मे ज्यादा उत्पादन करेंगे। चंपारण की मिट्टी से बने बर्त्तन गुणवत्ता पूर्ण होती है। क्षेत्रीय विधायक कृष्णनन्दन पासवान ने कहा कि ये सरकार की एक अच्छी पहल है, जो दूर देहात के रहने वाले कलाकारों को भी आगे लाने का प्रयास कर रही है।मधुबनी खादी उद्योग हस्तशिल्प से सभी शिल्पकारों को जोड़कर काम कराया जाएगा।

भारत सरकार के हस्तशिल्प वस्त्र मंत्रालय के निदेशक मुकेश कुमार ने बताया कि कोरोना काल में शिल्पकारों की बनाई बर्तनों को मार्केट में नहीं ले जाया जा सका। इसलिए वस्तुओं को बेचने के लिए ई मार्केटिंग को सही दिशा देने के लिए जगह जगह पर सेमिनार का आयोजन किया जा रहा है। उन्होने कहा कि मिट्टी के साथ बांस और सीप से बनने वाली वस्तुओं का प्रशिक्षण शीघ्र हस्तशिल्पकरो को दिया जाएगा। बताया कि चंपारण की मिट्टी से बनी वस्तुओं को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेचने की प्रक्रिया शुरू हो रही है।

champaran claypots got international recognition

Comment As:

Comment (0)