07dl_m_131_07102021_1

indian oil

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के वैज्ञानिकों की पूरे विश्व में हो रही है चर्चा : गिरिराज सिंह

इंडियन ऑयल का लगाया गया बिहार का पहला ऑक्सीजन प्लांट शुरू
बेगूसराय, 07 अक्टूबर (हि.स.)। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के बरौनी रिफाइनरी द्वारा बेगूसराय के तेघड़ा अनुमंडल अस्पताल में लगाया गया पीएसए आधारित ऑक्सीजन प्लांट गुरुवार से शुरू हो गया। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय तथा बरौनी रिफाइनरी के अस्पताल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री गिरिराज सिंह ने ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और देश के वैज्ञानिकों ने जो किया, उसकी पूरे विश्व में चर्चा हो रही है। कोरोना संक्रमण काल से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबके साथ मिलकर मुकाबला करते रहे। तीसरी लहर से जूझने के लिए बड़ी तैयारी की गई, 23123 करोड़ रुपया दिया गया। जब कोरोना का संक्रमण काल आया था तो भारत पीपीई किट और वेंटीलेटर आयात करता था। आज पीपीई किट और वेंटिलेटर बनाकर देश की जरूरत पूरा करने के साथ-साथ जरूरतमंद देशों को भी दिया जा रहा है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने में सबने मिलकर सहयोग किया। पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय तथा इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन भी इसमें जोरदार भागीदारी निभा रहा है।
आज पेट्रोलियम मंत्री देशभर में 150 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन कर रहे है। अब कोरोना चाहे कितना भी विकराल हो, ऑक्सीजन के अभाव में कोई नहीं मरेगा। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भरपूर सहयोग कर रहा है। बरौनी रिफाइनरी तीन ऑक्सीजन प्लांट दिया, रिफाइनरी कैंपस में ऑक्सीजन प्लांट लगाया जा रहा है। बच्चों के लिए सदर अस्पताल में 50 बेड का अस्पताल बनाने की प्रक्रिया शुरू है, तीन एंबुलेंस दिया गया, तीन हजार जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर दिया गया। अभी शुरू किया जा रहा ऑक्सीजन प्लांट भी समय से पहले बनकर तैयार हो गया। इंडियन ऑयल ना केवल तेल का कारखाना है, बल्कि लोगों के लिए विपत्ति का सहयोगी भी है।
गिरिराज सिंह ने कहा कि कोरोना से मुकाबला करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के वैज्ञानिकों ने जब वैक्सीन बनाया तो कुछ लोगों ने इस पर भी सवाल खड़ा किया। लेकिन केंद्र सरकार ने वसुधैव कुटुंबकम की नीति को अपनाते हुए जरूरतमंद देशों को वैक्सीन दिया। भारत में दुनिया से सबसे अधिक लोगों को वैक्सीन दिया गया, यहां 94 करोड लोग वैक्सीन ले चुके हैं, बिहार ने भी समय से पहले अपने लक्ष्य को पूरा किया। भारत में जब वैक्सीन बना तो कुछ लोगों ने कहा था यह मोदी का वैक्सीन है लेकिन लोगों को भड़कानेे वाले के बाबूजी ने पहले ले लिया और बेटा ने भी चोरी से वैक्सीन लगवा ली। मोदी का संकल्प पूरा हो रहा है, पूरी दुनिया में इसकी चर्चा हो रही है। बिहार में जब कोरोना का संक्रमण बढ़ा तो विभिन्न जिलों से ऑक्सीजन के लिए कॉल आती थी लेकिन बेगूसराय के डीएम के प्रयास से यहां कोई समस्या नहीं हुई और यहां ऑक्सीजन आपूर्ति पूरा करने के साथ-साथ लखीसराय, सहरसा, खगड़िया और समस्तीपुर को भी बेगूसराय ने ऑक्सीजन दिया।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बरौनी रिफाइनरी के कार्यपालक निदेशक और रिफाइनरी प्रमुख शुक्ला मिस्त्री ने कहा कि इंडियन ऑयल का बरौनी रिफाईनरी हर सुख-दुख में लोगों के साथ है। यहां लोगों को कोरोना काल में संघर्ष करना पड़ा, लेकिन अब बेहतर मेडिकल सुविधा मिलेगी। करीब एक करोड़ रुपए की लागत से लगाया गया यह ऑक्सीजन प्लांट चार सौ एलपीएम क्षमता का है। इस प्लांट को लगाने का लक्ष्य तीन माह निर्धारित था, लेकिन सभी के समन्वय से समय से पहले शुरू होने वाला बिहार का यह पहला प्लांट है। कार्यक्रम का संचालन कॉरपोरेट संचार प्रबंधक अंकिता श्रीवास्तव ने किया। चआर) तरुण कुमार बिसई सहित अन्य उपस्थित थे।

indian oil

Comment As:

Comment (0)