Today's Top News

img
भोपाल, 09 जून (हि.स.)। राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के भोपाल दौरे के एक दिन पहले लंबे समय से अटकी प्रदेश भाजपा कार्यसमिति का ऐलान मंगलवार देर रात किया गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया के भोपाल आगमन से चंद घंटे पहले जारी की गई सूची में 162 नेताओं को कार्यसमिति का सदस्य मनोनीत किया गया गया है। वहीं 218 नेताओं को विशेष आमंत्रित सदस्य बनाया गया है।

भाजपा कार्यसमिति की सूची में 28 स्थाई आमंत्रित सदस्य हैं जिनमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया, कैलाश विजयवर्गीय सहित तमाम दिग्गज नेताओं के नाम हैं। सिंधिया समर्थकों में भोपाल से कृष्णा घाटके को भी कार्यसमिति में जगह मिली है। लगभग छह साल बाद नई कार्यसमिति बनी है। मंगलवार को बीएसपी की सदस्यता छोड़ भाजपा में शामिल होने वाले अमरीश शर्मा को भी शामिल किया गया है। जबकि पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती को किसी भी सूची में जगह नहीं दी गई है। बता दें वीडी शर्मा को प्रदेश अध्यक्ष बने 15 महीने हो गए हैं। लंबे समय से प्रदेश कार्यसमिति की सूची अटकी हुई थी। सिंधिया के दौरे के एक दिन पहले ये जारी हुई है।

जाति वाली सूची हटाकर संशोधित सूची जारी की
मंगलवार देर रात को जारी हुई भाजपा कार्यसमिति की सूची में पहली बार पदाधिकारियों के नाम के आगे उनकी जाति लिख दी गई। लिस्ट सोशल मीडिया पर जारी की गई थी। इसमें कुछ नेताओं की जाति ही गलत लिख दी गई। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय वैश्य हैं, लेकिन उनके नाम के आगे ब्राह्मण लिखा हुआ था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया की भी जाति गलत लिखी गई थी। पहली बार कार्यसमिति के सदस्यों की सूची में नेताओं की जाति बताई गई है कि वो किस वर्ग से आते हैं। लेकिन विवाद होते ही 10 मिनट बाद इसे हटा लिया गया। इसके बाद रात 12:45 बजे पदाधिकारियों की जाति हटाकर संशोधित लिस्ट जारी की गई। बड़ी संख्या में सिंधिया समर्थकों को भी कार्यसमिति और विशेष आमंत्रित सदस्यों में जगह मिली है।

कांग्रेस ने खड़े किए सवाल
इधर, देर रात जारी हुई भाजपा की कार्यसमिति पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि लोगों को जाति-वर्ग के आधार पर बांटने की कोशिश भाजपा ने की है। स्थाई आमंत्रित सदस्यों में उमा भारती का नाम नहीं होने पर भी कांग्रेस ने भाजपा को घेरा है।

ऐसी है प्रदेश कार्यसमिति
प्रदेश कार्यसमिति में 162 सदस्य, 218 विशेष आमंत्रित सदस्य, 23 स्थाई आमंत्रित सदस्य हैं। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का नाम नहीं है। स्थाई आमंत्रित सदस्यों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोत, केंद्रीय मंत्री नरेद्र सिंह तोमर, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, सुमित्रा महाजन, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद प्रधान, ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, केंद्रीय राज्य मंत्री प्रह्लाद पटेल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रहे विक्रम वर्मा, सत्यनारायण जटिया और प्रभात झा को शामिल किया गया है। इसके साथ ही लिस्ट में सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, गृह एवं संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा और लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव समेत पूर्व मंत्री लाल सिंह आर्य, ओमप्रकाश ध्रुवे, सांसद सुधीर गुप्ता, पूर्व मंत्री माया सिंह, जयभान सिंह पवैया, कृष्ण मुरारी मोघे, माखन सिंह और भगवत शरण माथुर को शामिल किया गया है। पिछली कार्य समिति में सदस्य रहे पूर्व जिला अध्यक्ष सुरेंद्रनाथ सिंह को इस बार इस लिस्ट में जगह नहीं मिली है, जबकि भोपाल के पूर्व जिलाध्यक्षों को शामिल कर लिया गया है।
Adv

You Might Also Like