Today's Top News

img

 राज्य के लोग को वैक्सीन की कमी के कारण हो रहे परेशान

'मिशन फतेह' का जश्न मनाने के बजाय, सरकार अगर अस्पतालों की संरचना और कर्मचारियों की कमी दूर करने पर काम किया होता तो आज कोरोना से जंग जीत ली होती

चंडीगढ़, 18 अप्रैल राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकोप और कोरोना से निपटने में पंजाब सरकार के खराब प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता हरपाल सिंह चीमा ने इसे सरकार की अक्षमता करार दिया। पार्टी मुख्यालय से मीडिया को जारी एक बयान में हरपाल चीमा ने कहा कि वर्तमान कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने पंजाब में स्वास्थ्य सुविधाओं और बुनियादी ढांचे को ठीक करने के लिए पिछले एक साल में कुछ नहीं किया है जिसके कारण कोरोना मामलों की संख्या फिर से बढ़ रही है। चीमा ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए पंजाब सरकार पिछले एक साल से ढीला-ढाला कदम उठा रही है जिसके कारण आज भी पंजाब के लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं।

    चीमा ने कहा कि राज्य में सबसे अधिक मामले होने के बावजूद, कैप्टन अमरिंदर सिंह इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। वे अपने फार्महाउस में आराम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के अस्पतालों में को वैक्सीन की भारी कमी है, जिसके कारण डॉक्टरों को इलाज करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना पीड़ितों को एक जगह से दूसरी जगह भटकने के लिए मजबूर किया जा रहा है  लेकिन पंजाब सरकार अभी भी इसकी उपेक्षा कर रही है। उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि राज्य में मामलों की संख्या में वृद्धि के बावजूद, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अभी तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ इस मामले को नहीं उठाया और न ही उन्होंने अपने अधिकारियों को कोई विशेष निर्देश जारी किया है।             
चीमा ने कहा कि कोरोना से निपटने के बजाय, पंजाब सरकार अब तक केवल आधी-अधूरी तैयारी के साथ जश्न मनाने में व्यस्त रही है। पंजाब सरकार द्वारा शुरू किए गए कार्यक्रम 'मिशन फतेह' के तहत, सरकार डींग हांक रही है, लेकिन जमीन पर कुछ भी करने में विफल रही। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने विज्ञापनों में खुद को महिमामंडित करने के बजाय कर्मचारियों की कमी को दूर किया होता तो कोरोना से युद्ध जीता जा सकता था। चीमा ने मांग की कि स्वास्थ्य विभाग के कोरोना वारियर्स, जिनकी हाल ही में सरकार द्वारा सेवाएं रद्द कर दी गई थी, को फिर से बहाल किया जाए।


Adv

You Might Also Like