Today's Top News

img
बीकानेर, 01 अप्रैल (हि.स.)। कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) आर के शर्मा ने उत्तर-पश्चिम रेलवे के बीकानेर मंडल के चूरू, सादुलपुर, नोहर खंड में हुए रेल विद्युतीकरण कार्य का विस्तृत निरीक्षण करने एवं उसके पश्चात 100 किलोमीटर प्रति घण्टा की रफ्तार से ट्रायल किया गया। रेलवे के सीनियर डीसीएम अनिल कुमार रैना ने गुरुवार को बताया कि सीआरएस स्पेशल ट्रेन का विद्युतीकृत लोको ईंजन से स्पीड ट्रायल करने के पश्चात उक्त खंड में इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाने का प्राधिकार जारी किया। अब शीघ्र ही इन मार्गों पर विद्युतीकृत रेल का संचालन शुरू हो जाएगा। रेल विद्युतीकरण से राजस्थान एवं हरियाणा राज्य के चार जिलों चूरू, भिवानी, महेन्द्रगढ़ एवं रेवाड़ी के नागरिकों को प्रदूषण रहित ग्रीन ट्रांसपोर्ट व तेज गति की रेल सेवा का लाभ मिलेगा। निरीक्षण के दौरान उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रमुख मुख्य बिजली अभियंता राजेश मोहन, मंडल रेल प्रबंधक संजय श्रीवास्तव, मुख्य बिजली कर्षण वितरण अभियंता अनिल कुमार जैन, मुख्य परियोजना निदेशक एस. एस. यादव, उपमुख्य विद्युत अभियंता ओम प्रकाश मदेरणा, वरिष्ठ मंडल बिजली अभियंता (कर्षण) राजेन्द्र सिंह चौधरी, मंडल विद्युत अभियंता विपिन कुमार एवं मंडल विद्युत अभियंता अमित कुमार मीणा भी उपस्थित रहे। निरीक्षण के अंत में आर.के.शर्मा, सीआरएस ने आर.के.चौधरी द्वारा कर्षण वितरण उपकरणों के रखरखाव एवं संरक्षा पर बनी पुस्तक का भी विमोचन किया।
Adv

You Might Also Like