Today's Top News

img
समस्तीपुर, 18 मई (हि.स.)।वित्त रहित शिक्षा कर्मी आर्थिक रुप जर्जर स्थिति में आ गये हैं। उन्हें वर्ष 2014 से ही अनुदान की राशि बिहार सरकार द्वारा नहीं दिया गया है। आश्चर्य की बात यह है कि इंटरमीडिएट परीक्षा की वर्ष 2021की उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन कार्य में लगे शिक्षक एवं  कर्मियों का पारीश्रमिक भी अभी तक नहीं मिल पाया है।बिना वेतन के लगभग चार दशकों से वित्त रहित शिक्षा कर्मी काम करते आ रहे हैं।  

वित्त रहित शिक्षा संयुक्त संघर्ष मोर्चा के जिला संरक्षण मंडल के संयोजक प्रो. उमेश कुमार ने कहा कि बिहार की अधिकांश शिक्षा व्यवस्था वित्त रहित शिक्षण संस्थानों के द्वारा ही संचालित हो रहा है। लेकिन संस्थान में काम करने वाले कर्मी बिल्कुल विपन्नता का शिकार बना हुआ है। आगे उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर शीघ्र ही वर्ष 2014 के बाद बचे अनुदान की राशि एवं इंटर परीक्षा की उत्तर पुस्तिका की मुल्यांकन कार्य के पारीश्रमिक का भुगतान नहीं किया तो वित्त रहित कर्मी शांतिपूर्ण आंदोलन करने पर विवश होगें।
Adv

You Might Also Like