Today's Top News

img

कोलकाता, 24 मई (हि.स.)। तीसरी बार मुख्यमंत्री बनीं  ममता बनर्जी के केंद्र सरकार के साथ रिश्ते एक बार फिर तल्ख होते नजर आ रहे हैं। अब  चक्रवाती तूफान यास से बचाव के लिए गृह मंत्री अमित शाह द्वारा बुलाई गई मुख्यमंत्रियों की बैठक में ममता बनर्जी शामिल नहीं होंगी। बंगाल की खाड़ी में आने वाले चक्रवात यास से निपटने के लिए गृहमंत्री अमित शाह आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। 


गृह मंत्री वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पश्चिम बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्रियों और अंडमान- निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल के साथ बैठक कर  चक्रवात से निपटने की तैयारियों  की समीक्षा करेंगे।  इस बैठक में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के शामिल होने की संभावना नहीं है। उनकी जगह राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय बैठक में हिस्सा लेंगे। 

बता दें कि चक्रवाती तूफान यास से निपटने के लिए केंद्र सरकार जोर-शोर से तैयारी कर रही है। रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आपदा प्रबंधन कार्यालय के साथ आपात बैठक की थी। इसमें विभिन्न केंद्रीय कार्यालयों के अधिकारी भी उपस्थित थे। इनमें दूरसंचार और बिजली विभाग के अधिकारी भी थे। केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गौड़ा पहले ही राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति के साथ बैठक कर चुके हैं। उन्होंने निर्देश दिए कि आपदा से पहले पूरी तैयारी कर ली जाए। निचले इलाकों से लोगों को जल्दी बाहर निकालने का निर्देश भी दिया गया है। यह भी देखने को कहा गया है कि लोगों को  भोजन, पानी, दवा और अन्य जरूरी चीजों की कमी न हो। हालांकि, प्रशासन यह सुनिश्चित करने के लिए अत्यधिक महत्व दे रहा है कि कोविड की स्थिति में कोविड केंद्रों, सुरक्षित घरों और अस्पतालों को कोई समस्या न हो। बता दें कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की 75 टीमों को पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में तैनात किया गया है। अन्य 20  टीमें भी लगाई गयी हैं। इस बीच बीएसएफ ने तूफान की आशंका को देखते हुए बांग्लादेश में जहाजों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। सेना, नौसेना और तटरक्षक बल को भी तैयार रखा गया है।
test1

You Might Also Like