Today's Top News

img
नई दिल्ली, 30 मई (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना को पिछले सौ सालों की सबसे बड़ी महामारी बताते हुए कहा कि महामारी के बीच भारत ने अनेक प्राकृतिक आपदाओं का भी डटकर मुकाबला किया है। उन्होंने कहा कि हम पहले के वर्षों की तुलना में ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की जान बचा पा रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 24वें संस्करण को संबोधित करते हुए कोरोना की दूसरी लहर के बीच आई प्राकृतिक आपदाओं चक्रवात ताउते, याश और अनेक राज्यों में आई बाढ़ के दौरान जनता के अनुशासन की सराहना की। उन्होंने कहा कि इन दोनों चक्रवातों ने कई राज्यों को प्रभावित किया है। देश और देश की जनता इनसे पूरी ताकत से लड़ी और कम से कम जनहानि सुनिश्चित की। हम पहले के वर्षों की तुलना में ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की जान बचा पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र, राज्य और स्थानीय प्रशासन इससे निपटने में सामूहिक रूप से जुटे हैं। प्रधानमंत्री ने अपनों को खोने वालों के प्रति संवेदना व्यक्त की। मोदी ने कहा कि देश की सामूहिक शक्ति और हमारे सेवा-भाव ने देश को हर तूफ़ान से बाहर निकाला है। हाल के दिनों में हमने देखा है कि कैसे हमारे डॉक्टर्स, नर्सेस और अग्रिम पंक्ति के योद्धा ख़ुद की चिंता छोड़कर दिन रात काम कर रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मांग अचानक बढ़ने पर भारतीय रेलवे और वायु सेना के प्रयासों की सराहना की।
test1

You Might Also Like