Today's Top News

img
उज्जैन, 01 मई (हि.स.)। अप्रैल माह के अंतिम दिन अधिकतम और न्यूनतम तापमान में 17 डिग्री का अंतर रह गया। बीती रात न्यूनतम तापमान 25 डिग्री के करीब दर्ज किया गया है। आज से मई माह की शुरुआत हो रही है अधिकतम तापमान में भी वृद्धि की आशंका जताई जा रही है। जीवाजीराव वेधशाला के अनुसार बीती रात न्यूनतम तापमान में ढाई डिग्री का उछाल दर्ज किया गया है। रात का तापमान 24.5 डिग्री पहुंच गया था। इससे पहले शुक्रवार को अधिकतम तापमान 41.8 डिग्री दर्ज किया गया। गुरुवार को अधिकतम तापमान 42 डिग्री पहुंच चुका था जिसमें मामूली गिरावट दर्ज हुई है। संभावना जताई जा रही है कि आज से मई माह की शुरुआत हो रही है और अधिकतम के साथ न्यूनतम तापमान में वृद्धि हो सकती है। एक बार अधिकतम तापमान 44 से 45 डिग्री के आसपास पहुंच सकता है। पिछले कुछ दिनों से हवा की रफ्तार भी धीरे धीरे कम होती नजर आ रही है। सप्ताह भर पहले 8 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही थी जो अब 4 किलोमीटर प्रति घंटा की हो गई है। आज सुबह हवा की गति 2 किलोमीटर प्रति घंटा बनी हुई थी। जिस तरह से दिन रात का तापमान बढ़ रहा है उससे लू लगने का खतरा भी बढ़ता नजर आने लगा। बिजली की शुरू आंख मिचौली जैसे-जैसे तापमान बढ़ता जा रहा है बिजली की आंख मिचौली का खेल भी शुरू हो चुका है। गर्मी बढऩे के साथ घरों में एसी कूलर की रफ्तार तेज हो चुकी है जिसके चलते बिजली की खपत बढ़ गई है। पिछले आठ-दस दिनों से वोल्टेज के साथ बिजली गुल होने की समस्या से लोग परेशान नजर आ रहे हैं। दिन हो या रात कभी भी आधे से 1 घंटे के लिए बिजली जा रही है। कोरोना को लेकर लागू किए गए कर्फ्यू और लॉकडाउन के बीच लोग घरों में रह रहे हैं बिजली जाने से उनकी परेशानी बढ़ जाती है। गिरने लगा जल स्तर तापमान बढऩे के साथी जल स्तर गिरने का क्रम भी सामने आने लगा है। नगर निगम द्वारा शहर में जल प्रदाय 1 दिन छोड़ो कर दिया गया है। लोग नलकूप और हैंडपंप का रुख कर चुके हैं। हैंडपंपों ने अब दम तोडऩा शुरू कर दिया है उसमें से पानी निकलना कम हो चुका है। घरों में बने कुओं का जलस्तर भी कम होने लगा है। जल प्रदाय के सबसे बड़े स्त्रोत गंभीर डेम का जलस्तर भी कम होता जा रहा है। अगर समय से बारिश नहीं हुई तो मुसीबतें बढ़ सकती हैं।
Adv

You Might Also Like