ADV2
adv Ftr

आशा ज्योति केन्द्र से गायब हुई बिहार की युवती

कानपुर, 07 दिसम्बर (हि.स.)। आशा ज्योति केन्द्र में कर्मचारियों की लापरवाही के चलते शुक्रवार को केन्द्र से बिहार की एक युवती गायब हो गई। युवती के गायब होने पर विभाग में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। प्रोवेशन अधिकारी ने जांच के निर्देश देते हुए कहा कि दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। 
रावतपुर स्थित आशा ज्योति केन्द्र में महिलाओं की जन शिकायत सुनने के लिए काउंसलर अधिकारी समेत उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस चौकी मौजूद है, पर काम के नाम पर कुछ नहीं हो पा रहा है। केन्द्र में नियम के विरुद्ध रह रही बिहार निवासी गुड़िया (22) संदिग्ध परिस्थितियों में शुक्रवार सुबह गायब हो गई। उसके गायब होने पर विभाग में खलबली मच गयी। 
आशा ज्योति केन्द्र की सेंटर मैनेजर अंकिता निगम ने पहले तो युवती के भागने से इंकार कर दिया लेकिन कुरेदकर पूछने के बाद उन्होंने स्वीकार किया कि केन्द्र से गुड़िया नाम की युवती गायब हुई है। 28 नवम्बर को जीआरपी उसे लेकर केन्द्र पर आयी थी। वह बिहार की रहने वाली है। युवती की काउंसलिंग की जा चुकी थी और उसे राजकीय महिला शरणालय में भेजा जाना था, पर वह सुबह पांच बजे से केन्द्र से अचानक गायब हो गई। युवती के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं हो पा रही है। रात में किसकी ड्यूटी थी, यह भी उनको नहीं पता है। जिला प्रोवेशन अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने बताया कि युवती केन्द्र की लापरवाही से गायब हुई है जिसके जांच के आदेश दे दिये गये हैं और दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस पूरे मामले की जानकारी होने के बाद भी डिप्टी सीपीओ श्रुति शुक्ला ने फोन नहीं उठाया।
नियम विरूद्ध रह रही थी युवती
अजीत कुमार सिंह ने बताया कि शुरुआती दौर में पता चला है कि युवती 28 नवम्बर को सेंटर पर आयी थी और तबसे बराबर यहीं रह रही थी जबकि नियम यह है कि किसी भी महिला को सेंटर पर लाने के पांच दिन बाद उसे किसी महिला शरणालय के सुपुर्द करना होता है। ऐसे में सेंटर की भारी लापरवाही उजागर हो रही है। 

Todays Headlines