Today's Top News

img

कहा गुनहगारों को बक्शा नहीं जायेगा 

पंजाब के खाद्य, नागरिक, आपूर्ति और उपभोक्ता मामलों के मंत्री भारत भूषण आशु और उद्योग और वाणिज्य मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा ने मंगलवार सुबह बाबा मुकंद सिंह नगर में उस जगह का दौरा किया और निरीक्षण किया जहां सोमवार को एक चार मंजिला ऑटो पार्ट फैक्ट्री की छत गिर गई थी जिसमे चार श्रमिकों की  मृत्यु और सात  घायल हो गए थे यह घटना तब घटी जब  अवैध रूप से जैक के साथ लिंटेल के स्तर को बढ़ाया जा रहा था ।

विधायक संजय तलवार, डिप्टी कमिश्नर वरिंदर कुमार शर्मा, पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल, मेयर बलकार सिंह संधू, एमसी कमिश्नर प्रदीप कुमार सभरवाल, पंजाब स्टेट इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (PSIDC) के चेयरमैन केके बावा, सीएम के  ओएसडी अंकित बंसल से लेकर  मंत्रियों ने घटना को  बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद बताया  और कहा कि प्रभावित परिवारों और अन्य घायलों को हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है।

उन्होंने कहा कि जांच द्वारा किसी भी सरकारी अधिकारी की ओर से लापरवाही का पता लगने पर यदि  इस हादसे में कोई व्यक्ति या  लोक सेवक जिम्मेदार पाया गया तो किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने पहले ही पटियाला डिवीजनल कमिश्नर द्वारा उच्चस्तरीय जांच और घायल मजदूरों के मुफ्त इलाज के अलावा मृतकों के परिवारों के लिए 2-2 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है।

कैबिनेट मंत्रियों ने आगे लोगों से अपील की कि वे अपने निहित स्वार्थ के लिए किसी भी जीवन को खतरे में न डालें और निर्माण के दौरान सभी सुरक्षा मानकों को सुनिश्चित करने के अलावा काम करने की अनुमति संबंधित अधिकारियों से भी लें।

उपायुक्त वरिंदर कुमार शर्मा ने दोनों मंत्रियों को बताया कि सोमवार की सुबह से एसडीआरएफ, एमसी, फायर ब्रिगेड और स्थानीय पुलिस के साथ एनडीआरएफ ने अथक परिश्रम किया है और 36 मजदूरों को बचाया है, जिनमें से पांच का इलाज चल रहा है और दो की हालत गंभीर है और अन्य को छुट्टी दे दी गई है।  उन्होंने कहा कि गंभीर हालत में दो लोगों का एसपीएस अस्पताल में इलाज चल रहा है जबकि तीन सिविल अस्पताल लुधियाना में हैं।

पुलिस आयुक्त राकेश अग्रवाल ने भी खुलासा किया कि मालिक और ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और उन्हें पकड़ने के लिए टीमें पीछे हैं।

इस अवसर पर मुख्य रूप से अतिरिक्त उपायुक्त अमरजीत सिंह बैंस, संयुक्त सीपी ग्रामीण सचिन गुप्ता, एसडीएम अमरिंदर सिंह और अन्य शामिल थे।

Adv

You Might Also Like