Adv
adv Ftr

धान के खेत में मिला जंगली हाथी का शव

चराईदेव (असम), 09 नवंबर (हि.स.)। चराईदेव जिला मुख्यालय सोनारी के सिंगल पथार चाय बागान के आठ नंबर लाइन इलाके में शुक्रवार की सुबह धान के खेत में एक जंगली हाथी को मृत अवस्था में पाया गया। स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर वन विभाग और पशु चिकित्सकों की टीम पहुंचकर हाथी के शव की जांच की। हालांकि हाथी के मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है।
सूत्रों ने बताया है कि जंगली हाथी अभयपुर संरक्षित वनांचल से निकल कर भोजन की तलाश में इलाके में पहुंचा था। पशु चिकित्सकों के दल ने हाथी का पोस्टमार्टम किया, जिसके बाद उसके शव को पास के जंगल में दफना दिया गया। 
ग्रामीणों के अनुसार जंगली हाथियों का झुंड इलाके में धान की फसल को खाने के लिए पिछले कई दिनों से पहुंच रहा है। जिसके चलते ग्रामीण बेहद दहशत में है। उल्लेखनीय है कि हाथियों में सूंघने की गजब की शक्ति होती है। वह काफी दूर से वस्तुओं को सूंघ लेते हैं। धान की फसल जब खेतों में पकती है तो उसकी खुशबू को सूंघकर वे उसे खाने के लिए पहुंचते हैं। 
सूत्रों ने दावा किया है कि संभवतः किसानों द्वारा खेती को बचाने के लिए किसी विषाक्त पदार्थ को मिलाकर खेत के किनारे खाने के लिए रखा गया होगा, जिसे खाकर हाथी की मौत हुई होगी। फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही हाथी की मौत की असली वजह का पता चल सकेगा। वन विभाग ने इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर ली है।