Today's Top News

img
ताइपे, 08 अप्रैल (हि.स.)। चीन के लगातार घुसपैठ की कोशिशों और उसके फाइटर प्लेन के ताइवान की सीमा में आने पर ताइवान ने कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि अगर चीन ने हमला किया तो हम अपने देश की रक्षा के लिए अंतिम दम तक लड़ेंगे। चीन दावा करता है कि ताइवान उसका भूभाग है। ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने बुधवार को कहा कि चीन की सैन्य धमकी और घुसपैठ के लगातार प्रयासों पर कड़ी आपत्ति जताते हए कहा कि हम अपने बचाव के लिए तैयार हैं। वू ने कहा कि सोमवार को ताइवान के हवाई क्षेत्र में चीन के 10 युद्धक विमानों ने उड़ान भरी और ताइवान के पास उसने अभ्यास के लिए एक विमान वाहक समूह को तैनात किया है। अगर हमें युद्ध लड़ने की जरूरत हुई तो हम युद्ध लड़ेंगे और अगर आखिरी दिन तक अपना बचाव करना पड़ा तो हम अपना बचाव करेंगे। चीन ताइवान की लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित सरकार को मान्यता नहीं देता है। वू ने मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा कि चीन सहानुभूति देकर लोगों को आकर्षित करना चाहता है, वहीं ताइवान की सीमा में युद्धक विमान और सैन्य पोतों को लगातार भेज रहा है ताकि ताइवान के लोगों को भयभीत किया जा सके। चीन की सैन्य क्षमताओं में भारी सुधार और ताइवान के आसपास उसकी बढ़ती गतिविधियों ने अमेरिका की चिंताएं बढ़ा दी हैं। ताइवान और चीन 1949 में गृह युद्ध के बीच अलग हो गए थे।
Adv

You Might Also Like