Today's Top News

img
यमुनानगर, 7 अप्रैल (हि.स.) । संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत हिमाचल के पोंटा साहब जाते समय यमुनानगर के भगवानगढ़ में महिपाल के निवास स्थान पर पहुंचे और यहां उन्होंने एक प्रेस वार्ता की । इस दौरान उन्होंने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार किसानों को पूरी तरह से खत्म करने के लिए तुली हुई है । और अभी जल्द ही केंद्र सरकार द्वारा एक सीड विधेयक लाया जा रहा है जिसको लेकर उसमें किसानों को सजा और जुर्माने का भी प्रावधान रखा गया है। यह बिल अभी सदन में लाया जाने वाला है। और इसी तरह भविष्य में केंद्र सरकार दूध को लेकर करार करने जा रही है। जिससे देश के अंदर जहां एक ओर दूध थोड़े समय के लिए तो 20 रुपये किलो मिलेगा और बाद में मनमर्जी के दाम वसूलें जाएंगे। लेकिन इससे पशु पालने वाला और छोटा किसान मारा जाएगा। उन्होंने कहा कि किसान के लिए जब तक तीनों कृषि कानून रद्द नहीं होते और एमएसपी को लेकर कानून नहीं बनाया जाता जाता तब तक आन्दोलन जारी रहेगा। बंगाल चुनाव के सवाल को लेकर उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार घर-घर से एक मुठ्ठी चावल नही मांग रही है।बल्कि उनकी भावनाओं से खेल रही है। बंगाल में चावल 7 सौ रुपये क्विंटल बिक रहा है और सरकार का रेट 18 सौ 50 रुपये है। हमने वहां के किसानों को एमएसपी के दाम सरकार से मांगने की बात कही। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री और मंत्री हरियाणा में जनसभाएं करने की बजाए हमारे साथ धरने पर आएं। जब ये लोहग विपक्ष में होते थे तो किसानों के साथ होते थे। अगर आज विपक्ष हमारे साथ है तो इनको गलत लग रहा है। उन्होंने कहा कि 2024 में जब चुनाव आएंगे तब पूरे देश में इनसे एक-एक बात का हिसाब लिया जाएगा । उन्होंने कहा कि सरकार अपनी हठधर्मिता को छोड़ दे । हमारा यह आन्दोलन अक्टूबर-नवम्बर तक या 2023 तक भी चल सकता है। अपने ऊपर हुए हमले को लेकर उन्होंने कहा कि यह भाजपा के अभाविप के छात्रो के द्वारा किया गया हमला था। उन्होंने हिमाचल के किसानों का उदाहरण देते हुए कहा कि अडानी के द्वारा सेब के किसानों का शोषण किया जा रहा है। पहले उसने किसानों से महँगा सेब खरीदा और आज किसान की हालत देख लो। हमें सरकार की एक फोन कॉल का इंतजार है । इस मौके भाकियू के जिला प्रधान सुभाष गुर्जर सहित भारी संख्या में किसान नेता उपस्थित रहे।
Adv

You Might Also Like