Today's Top News

img

गोपेश्वर, 01 अगस्त (हि.स.)। जमीन धंसने से चमोली जिला मुख्यालय गोपेश्वर का निकटवर्ती गांव सेटूणा को खतरा पैदा हो गया। गांव के निचले हिस्से में लगातार जमीन धंस रही है। कई परिवारों के खेत-खलिहान तो पूरी तरह से नष्ट हो गये है। मकानों में भी दरार आ गई हैं। ग्रामीणों का कहना है कि इस संबंध में कई बार सुरक्षा दीवार बनवाने की गुहार लगाई गई है।  

स्थानीय निवासी धनसिंह घरिया, माधो सिंह सूरज धारकोली, विनोद सिंह व कुंदन सिंह का कहना है कि 2013 की आपदा में गांव के निचले हिस्से में भू धंसाव शुरू हो गया था जो निरंतर जारी है। इससे खेत और खलिहान नष्ट हो गए हैं। कई मकानों पर दरारें आ गई हैं। इससे घरों में रहने में डर लगने लगा है। ग्रामीणों का कहना है कि बरसात के दिनों में तो लोगों को रात बैठ कर गुजारनी पड़ रही है। प्रशासन यदि गांव के निचले हिस्से में सुरक्षा दीवार बना देता है तो गांव को खतरे से बचाया जा सकता है। 

आपदा प्रबंधन अधिकारी चमोली नंदकिशोर जोशी का कहना है कि सेटूणा गांव का सर्वे करवाया जाएगा। भू-धंसाव को रोकने के लिए जो भी कारगर उपाय हो सकेंगे किया जाएगा। 

Adv

You Might Also Like