ADV2
adv Ftr

आईपीएस खुदकुशी मामला : आरोप-प्रत्यारोप में उलझी पुलिस, पत्नी से होगी पूछताछ

 

कानपुर, 04 अक्टूबर (हि.स.)। आईपीएस सुरेन्द्र दास की आत्महत्या के मामले में एक नया मोड़ आ सकता है क्योंकि जांच टीम ने उनकी डायरी का पूरा अवलोकन कर लिया है। सूत्रों की मानें तो टीम अब कभी भी आईपीएस की पत्नी, परिजनों व ससुरालीजनों से पूछताछ कर सकती है। इसके बाद ही आलाधिकारी किसी निर्णय पर पहुंच सकते है कि मामला आगे बढ़ाया जाये या फिर बंद कर दिया जाये। हालांकि अभी तक पुलिस सुरेन्द्र दास के परिजनों और ससुरालियों के आरोप-प्रत्यारोप में उलझी हुई है। 
आईपीएस सुरेन्द्र दास की खुदकुशी के मामले की जांच कर रहे पुलिस अधीक्षक पश्चिमी संजीव सुमन को अब तक जांच में कुछ ऐसा नहीं मिला है कि वह दोनों पक्षों में से किसी एक पक्ष पर कानूनी कार्रवाई करें। हालांकि अभी भी आईपीएस के सुसरालीजन व परिजन एक-दूसरे को आत्महत्या का जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। इससे यह तो साफ हो गया है कि उनकी खुदकुशी के पीछे घरेलू कलह ही है, लेकिन आत्महत्या का असली जिम्मेदार कौन है, इसका अब तक पता नहीं चल सका है। 
जांच टीम ने आईपीएस सुरेन्द्र दास की डायरी का पूरी तरह से अवलोकन कर लिया है लेकिन जांच टीम के हाथ कुछ ऐसा नहीं लगा है, जिससे वह किसी एक पक्ष को आईपीएस की मौत का जिम्मेदार ठहरा सके। जांच टीम अब कभी भी आईपीएस के परिजन व ससुरालीजनों से पूछताछ कर सकती है। 
सूत्रों की मानें तो इस पूछताछ के बाद ही कुछ निर्णय लिया जा सकता है कि मुकदमा कायम हो या फिर खुदकुशी के इस मामले को यहीं समाप्त कर दिया जाये। एसपी पश्चिम ने गुरूवार को बताया कि जांच चल रही पर आईपीएस के आत्महत्या मामले में अभी कोई ठोस सबूत नहीं मिल पा रहा है, आरोप-प्रत्यारोप से कुछ हासिल नहीं होने वाला है। फिलहाल जांच चल रही है जैसे ही कुछ तथ्य सामने आएंगे उसको मीडिया के सामने रखा जाएगा। 
गौरतलब है कि पांच सितम्बर को पुलिस अधीक्षक सिटी सुरेन्द्र दास ने जहरीला पदार्थ खा लिया था जिनकी मौत नौ सितम्बर को रीजेंसी अस्पताल में हो गयी थी। इसके बाद से ही आईपीएस के परिजन और ससुरालीजन एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं, पर आईपीएस के आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पा रहा है।

महिला मित्र से भी कुछ नहीं हुआ हासिल
आईपीएस सुरेन्द्र दास की आत्महत्या का जिम्मेदार कौन है, इसका पता लगाने के लिए जांच टीम आईपीएस की उस महिला मित्र से भी पूछताछ की जिसका नाम आईपीएस ने सुसाइड नोट में लिखा था। सूत्रों की मानें तो इस महिला मित्र से आईपीएस की शादी पहले तय हुई थी लेकिन किन्हीं कारणों से बाद में टूट गयी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक आईपीएस की महिला मित्र से भी पूछताछ की गयी पर कुछ खास सफलता नहीं मिली। जबकि पुलिस का मानना था कि आईपीएस ने अपनी परेशानी के बारे में महिला मित्र को जरूर बताया होगा। 

Todays Headlines