Today's Top News

img
रियाद, 23 अप्रैल (हि.स.)। सउदी अरब में विजन-2030 के तहत स्कूलों के पाठ्यक्रम में भारतीय ग्रंथों- रामायण और महाभारत को शमिल किया गया है। प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने विज़न-2030 के तहत अन्य देशों के इतिहास और संस्कृति के अध्ययन को जरूरी बताया है। विज़न-2030 का मुख्य उद्देश्य यह है कि अर्थव्यवस्था तेल पर निर्भर है और तेल से राजस्व की निर्भरता को कम करने के लिए शैक्षिक प्रणाली में भी बदलाव किया जा रहा है। सउदी अरब के रहनेवाली नूफ अलमारवाई ने ट्विटर पर एक एक्जाम पेपर शेयर करते हुए लिखा है कि सऊदी अरब का नया विजन-2030 और पाठ्यक्रम एक ऐसा भविष्य बनाने में मदद करेगा जो समावेशी, उदार और सहिष्णु हो। उन्होंने अपने बेटे की समाजिक विज्ञान की पुस्तक का स्क्रीनशॉट साझा किया है, जिसमें कहा गया है कि पाठ्यक्रम में हिंदू धर्म, बौद्ध धर्म, रामायण, महाभारत, धर्म के इतिहास और अवधारणा को शमिल किया गया है। इनका कहना है की बेटे की पढ़ाई में मदद करने में उन्हें अच्छा लगा।
Adv

You Might Also Like